भारत का पहला अंग्रेजी साप्ताहिक ‘बिहार हेराल्ड’ फिर से शुरू हो गया

Mukesh Yadav : ख़ुशी की बात…मैं अपनी प्रति बुक करा रहा हूँ: भारत का पहला अंग्रेजी साप्ताहिक बिहार हेराल्ड फिर से शुरू हो गया! 1874 में शुरू हुए इस अखबार ने तब अंग्रेजों से लोहा लिया था, उम्मीद की जानी चाहिए आज मुख्यधारा के समाचार पत्रों के उलट बिहार हेराल्ड एक बार फिर समाज को बांटने में लगी और दमनकारी ताकतों के खिलाफ एक मोर्चे का काम करेगा.

आप बिहार हेराल्ड के संस्थापक संपादक की दूरदर्शिता का अंदाज इसी बात से लगा सकते हैं कि 1874 में उन्होंने अखबार को स्लोगन दिया था – सेकुलरिज्म ऐंड डेमोक्रेसी!..आज भी ये दो शब्द इस देश में कितने क्राइसिस में हैं, यह बताने की जरुरत नहीं है. एनीवे, फिलहाल बिहार हेराल्ड पाक्षिक रहेगा और मैं अपनी प्रति बुक करा रहा हूँ…शुक्रिया.

पत्रकार मुकेश यादव के फेसबुक वॉल से.