तो इसलिए पोर्न से बैन हटाने को मजबूर हुई मोदी सरकार!

: चरित्र, आदर्श और कॉर्पोरेट : पोर्न पर बैन लगा और हट गया। इसके पीछे की कहानी सुनिए। भाजपा के लोगों ने कोई 850 पोर्न साइट्स की सूची वाट्स एप और पूरे सोशल मीडिया पर डाली गई। मोदी सरकार ने ये साइट्स बैन कर फिर इसका प्रचार किया। अचानक बैन हट गया। पता चला कि जो कंपनी 4g लेकर आ रही है उसने मोदी सरकार के सामने एक सर्वे रखा जिस में भारतीय लोग दुनिया में सबसे जादा लोग पोर्न साइट्स देखते हैं। हम 4g ला रहे हैं। हमारा तो धंधा ही चौपट हो जायेगा। अरबों का घाटा हो जायेगा।

 

डील क्या हुई ये तो पता नहीं पर बैन हट गया। आप को बता दे इस कारपोरेट घराने ने चुनाव के समय अरबो रूपर प्रसार प्रचार पर खर्च किये है। पर जय हो। एक खबर और है कि पोर्न साईट पर प्रतिबन्ध और उसे समाप्त करने के बीच नेट सेवाएं दे रही कम्पनियो को मुनाफा बड़ गया है क्यों की जो लोग आसानी से पोर्न सर्च नहीं कर पर थे उन के लिए अब आसानी हो गई है और वह कंपनी के नए ग्राहक होंगे। 4G इंटरनेट कनेक्शन ऐसे कनेक्शन को बोला जाता है जिसमें नेट की डाउनलोडिंग और अपलोडिंग स्पीड 100 mbps होती है। सरल भाषा में समझें तो हर सेकेंड 100 एमबी डेटा को अपलोड या डाउनलोड किया जा सकता है।

लेखक हर्षित कुमार से संपर्क harshit05@gmail.com के जरिए किया जा सकता है.