शोभना भरतिया की ऐसे हो रही है फजीहत

मजीठिया मंच : बिहार के मुंगेर के दो लोगों समाजसेवी मंटू शर्मा और पत्रकार कृष्ण प्रसाद के कारण आजकल हिन्दुस्तान टाइम्स की मालकिन शोभना भरतिया की बड़ी फजीहत हो रही है। एक तो उनके खिलाफ चार सौ बीसी के एक मामले पर सुप्रीम कोर्ट में कई सुनवाई हो चुकी है और अभी भी एफआईआर न रद्द न होने की तलवार लटकी ही हुई है। इस मामले में अब जल्दी ही फैसला आने वाला है क्योंकि मुंगेर के एसपी के शपथपत्र न आने के कारण मामला अब तक लटका हुआ है। खबर है कि एसपी मुंगेर ने अपना शपथ पत्र सुप्रीम कोर्ट को भेज दिया है।

लेकिन इससे भी बड़ी बात तो यह है कि इस एफआईआर के कारण उन्हें बड़े और प्रोटोकॉल वाले संवैधानिक पदाधिकारियों के साथ उठना-बैठना मुश्किल हो हो रहा है। और अगर अपने रसूख और पहुंच के बल पर वह ऐसे कार्यक्रमों में घुस भी पाती हैं तो अपने अखबारों में इसकी खबर नहीं छपवा पातीं। पिछले दिनों बड़ी मुश्किल से सरस्वती सम्मान की राष्ट्रपति के साथ की तस्वीर अंदर के पेज पर छापी गई। लेकिन 31 अगस्त के कार्यक्रम की तस्वीर कहीं नहीं छपी। इस दिन राष्ट्रपति का देश के 30 महिलाओं के साथ एक कार्यक्रम हुआ था। इसमें शोभना भरतिया भी शामिल थीं। लेकिन इसका कवरेज खुद हिन्दुस्तान टाइम्स और इसके साथी अखबारों में नहीं किया गया।

राष्ट्रपति के प्रोटोकॉल के बारे में बताया जाता है कि ऐसे ही एक मामले में पीटीआई के जीएम को किसी खान साहब के साथ हुए मारपीट के झगड़े की एफआईआर को रद्द कराना पड़ा था। जीएम साहब को इस एफआईआर रद्द करवाने में नाकों चने चबाने पड़े थे। तब कहीं तत्कालीन राष्ट्रपति का कार्यक्रम पीटीआई में हो पाया था।

फेसबुक पेज मजीठिया मंच से साभार.