हैदराबाद के दंगे प्रापर्टी डीलरों ने करवाए थे

[caption id="attachment_2300" align="alignleft"]शेष नारायण सिंहशेष नारायण सिंह[/caption]आरएसएस की दंगे फैलाने की योजना बन चुकी है और राष्ट्र को चाहिए कि इससे सावधान रहे : हर दंगे की तरह, मार्च में हैदराबाद में हुआ दंगा भी निहित स्वार्थ वालों ने करवाया था. नागरिक अधिकारों के क्षेत्र में सक्रिय कार्यकर्ताओं ने पता लगाया है कि २३ मार्च से २७ मार्च तक चले दंगे में ज़मीन का कारोबार करने वाले माफिया का हाथ था. यह लोग बीजेपी, मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन और टीडीपी के नगर सेवकों को साथ लेकर दंगों का आयोजन कर रहे थे. सिविल लिबर्टीज़ मानिटरिंग कमेटी, कुला निर्मूलन पुरता समिति, पैट्रियाटिक डेमोक्रेटिक मूवमेंट, चैतन्य समाख्या और विप्लव रचैतुला संगम नाम के संगठनों की एक संयुक्त समिति ने पता लगाया है कि दंगों को शुरू करने में मुकामी आबादी का कोई हाथ नहीं था. शुरुआती पत्थरबाजी उन लोगों ने की जो कहीं से बस में बैठ कर आये थे.