कुशीनगर में ट्रेन से टकराई स्कूली बस, 13 बच्चें मरे, ड्राइवर ने लगा रखा था ईयरफोन

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में हुए एक दर्दनाक हादसे में एक स्कूल वैन के एक पैसेंजर ट्रेन से टकरा जाने के कारण 13 बच्चों समेत 14 लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में से एक बस का ड्राइवर भी है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ इस हादसे में कई बच्चों के घायल होने की खबर है, जिसमें से कुछ की हालत बेहद गंभीर है. इस वैन में करीब 25 बच्चे सवार थे. इस दुर्घटना पर पीएम नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सहित कई लोगों ने खेद व्यक्त किया है.  मामले में प्रदेश सरकार ने गोरखपुर के कमिश्नर को जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही एफआईआर भी दर्ज करवाने को कहा है.प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ गुरूवार सुबह डिवाइन पब्लिक स्कूल की टाटा मैजिक वैन बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी. यह वैन विशुनपुरा थाने के दुदही रेलवे क्रॉसिंग के पास से गुजर रही थी. यह रेलवे क्रॉसिंग मानव रहित है. जब स्कूल वैन ट्रैक से निकलने लगी, तभी वह वहां से गुजर रही ट्रेन की चपेट में आ गई. बताया जा रहा है कि घटना में वैन के परखच्चे उड़ गए. जिसके बाद आनन फानन में प्रशासन को सूचित किया गया.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ स्कूल वैन के चालक द्वारा इयरफोन लगाकर गाड़ी चलाने की बात सामने आ रही है. ऐसे में यह जांच भी की जाएगा कि क्या स्कूली वैन और बच्चों की सुरक्षा के संदर्भ में बने दिशा निर्देशों का उल्लंघन तो नहीं हुआ है.

किसने घटना पर क्या कहा –

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ट्वीट किया –

यह दिल दहला देनी वाली दुर्घटना सुनकर स्तब्ध हूं. कुशीनगर में छात्रों की मौत ने हिलाकर रख दिया है. मृतकों और घायलों के परिजनों को ईश्वर दुख सहने की ताकत दें.

समाजवादी पार्टी (एसपी) के नेता अखिलेश यादव ने लिखा-

बच्चों की हादसे में मौत से मन बहुत दुखी है.

डीजीपी ओपी सिंह ने ट्वीट किया –

कुशीनगर में हुए ट्रेन हादसे में बच्चों की मौत पर मैं शोक व्यक्त करता हूं. मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि मृतकों के परिजनों को इस दुख की घड़ी से उबरने की ताकत दें. मैंने गोरखपुर के एडीजे को घटनास्थल पर तुरंत पहुंचने को कहा है. राहत और बचाव कार्य चलाया जा रहा है.

रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया

कुशीनगर में स्कूली बच्चों की मौत का दुखद समाचार मिला. सीनियर अधिकारियों को हादसे की जांच के निर्देश दिए हैं. मृतकों के परिजनों को रेलवे की ओर से दो लाख रुपये की सहायता दी जाएगी. यह मदद यूपी सरकार की ओर से दी गई दो लाख की राशि के अतिरिक्त होगी.

और क्या कहा योगी ने

प्रदेश सरकार मृतक बच्चों के परिजनों को आर्थिक सहायता देगी.  मैंने इसके लिए रेल मंत्रालय से भी बात की है. मैंने खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल से मानवरहित क्रॉसिंग पर कर्मियों की तैनाती की अपील की है. जिस स्कूल में बच्चे पढ़ रहे थे, उसका रजिस्ट्रेशन न होने की बात भी सामने आई है. साथ ही स्थानीय सीओ द्वारा असंवेदनशील व्यवहार की भी जांच होगी. हमें यह भी पता चला है कि वैन का ड्राईवर कानों में ईयरफोन लगाए हुए था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *