गए थे अमन का पैगाम देने, कर आए तिरंगे का अपमान

: उल्‍टा फहराया गया देश का झंडा : सीमा पार पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के लाहौर में बाढ़ पीडि़तों के सहायतार्थ भारत से गया बुद्धिजीवी वर्ग का एक दल तिरंगे का अपमान कर आया। खबर तब सुर्खियों में आई जब दल के सदस्यों की उलटा तिरंगा थामे तस्वीर अंग्रेजी के समाचार पत्र हिंदुस्तान टाइम्स के हरियाणा पृष्ठ पर तीन सितंबर के अंक में छपी। इंडो-पाक शांति कारवां के नाम पर अमन के १० पैरोकार सीमा पार बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए गए थे। यह दल मैगसेसे अवार्ड विजेता संदीप पांडे की अगुवाई में पाकिस्तान गया था। जिसमें गुरदयाल सिंह शीतल व दर्शन सिंह पंजाब से, जायद अहमद शेख गुजरात से, कॉनफेडरेशन ऑफ वॉलेंटरी एसोसीएशन (कोवा) हैदराबाद से मजहर हुसैन, फिरोज हुड्डा लखनऊ से, राजेश्वर दिल्ली से, फिरोज मिट्ठीबोरवाला व मोनिका वाही मुंबई से तथा रमनीक मोहन हरियाणा भी भारत से पाकिस्तान गए थे।

तस्वीरों में बड़े गर्व के साथ खड़े यह सभी बुद्धिजीवी लोग पाकिस्तान के झंडे के साथ लगाए गए उलटे राष्ट्रीय ध्वज के अपमान को नजरअंदाज करते दिखाई दे रहे हैं। उल्टा तिरंगा थामे पाकिस्तान के लाहौर में खिंचवाई यह तस्वीर इन्होंने भारतीय मीडिया को भी जारी की है। राष्ट्रीय ध्वज के अपमान करने की घटना आमतौर पर राजनीतिक लोगों व विदेशियों के द्वारा ही सुनाई देती रही है। लेकिन अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे ये बुद्धिजीवी लोग ऐसी गलती करें तो बात जरूर गंभीर हो जाती है।

सिरसा से रविन्‍द्र सिंह की रिपोर्ट.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *