गौरव गर्ग ‘स्टार्टअप अवार्ड-2016’ से सम्मानित

नई दिल्ली : स्काई कैंडल के संस्थापक निदेशक श्री गौरव गर्ग को ‘स्टार्टअप अवार्ड-2016’ से सम्मानित किया गया है। यह अवार्ड उन्हें युवा व्यवसायी के रूप में विभिन्न कारोबारी क्षेत्रों में उनकी उपलब्धियों के लिए दिया गया है। उनका आॅनलाइन व्यवसाय में उल्लेखनीय योगदान है। विदित हो श्री गर्ग अजमेर (राजस्थान) निवासी एवं दिल्ली प्रवासी पत्रकार एवं साहित्यकार स्व. श्री रामस्वरूप गर्ग के पौत्र है। 10 पंडित पंत मार्ग पर राजस्थान मित्र परिषद नई दिल्ली द्वारा आयोजित वार्षिक स्नेह मिलन एवं सांस्कृतिक संध्या के अवसर पर सुखी परिवार फाउंडेशन के संस्थापक गणि राजेन्द्र विजयजी, बीएसफ के डिप्टी कमांडेंट श्री कुलदीप चैधरी एवं राजस्थान मित्र परिषद के अध्यक्ष श्री कोमल चैधरी ने श्री गर्ग को यह सम्मान प्रदत्त किया।

गणि राजेन्द्र विजय ने अपने विचार व्यक्त करते हुए देश के समग्र विकास में युवाशक्ति के योगदान को उल्लेखनीय बताया। उन्होंने प्रधानमंत्री के द्वारा व्यवसाय में युवा प्रतिभाओं को आगे लाने और स्टार्टअप को प्रोत्साहित करने की दृष्टि से किये जा रहे प्रयत्नों को देश के विकास में उपयोगी बताया।

सुखी परिवार फाउंडेशन के श्री राकेश जैन ने श्री गौरव गर्ग के चयन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मेक इन इंडिया के संकल्प को ऐसे युवा ही साकार कर सकेंगे। इस अवसर पर श्री अनिल कुमार जैन को परमार्थ, श्री मनोज जैन बड़ौत को शिक्षा, श्री सुरेन्द्र जैन को जनसेवा, श्री जयप्रकाश जैन को धार्मिक, श्री दिनेश जैन को परोपकार, श्री राजीव जैन को अनुदान, श्री अशोक एस. कोठारी मुम्बई को जनकल्याण सेवाओं के लिए सुखी परिवार फाउंडेशन द्वारा सम्मानित किया गया।

विदित हो पिछले एक साल से स्काईकैण्डलडाॅटइन आनलाइन दुनिया में  मोमबत्ती, काॅरपोरेट उपहार, लालटेन एवं आम जरूरतों की एक अग्रणी उद्यमी वेबसाइट है। जिसने अल्प समय में आॅनलाइन व्यवसाय को भारत में प्रभावी ढंग से संचालित करने में सफलता पायी है। इस साइट के माध्यम से सभी आय स्तर के लोगों की जरूरतों के सामान को आनलाइन उपलब्ध कराने में नये कीर्तिमान स्थापित किये हैं।

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *