पान मसाला के पाउचों की कालाबाजारी कर लाखों की लूट

यूं तो मांग और आवक के आधार पर खाद्य पदार्थों की कृत्रिम कमी पैदा कर आम जनता की जेबों पर लम्बे समय से डाका डाला जा रहा है, परन्तु सुप्रीम कोर्ट के पान मसाला-गुटखा सम्बन्धी दिये गये आर्डर से देहरादून में कालाबाजारियों की लाटरी निकल पड़ी है। देहरादून प्रशासन की उदासीनता का लाभ उठाकर शार्टेज के नाम पर पान मसाला एवं गुटखा को दोगुने से भी अधिक कीमतों पर धड़ल्ले से बेचा जा रहा है।पान मसाला एवं गुटखा के पाउच कभी ब्लैक में भी बिक सकते हैं शायद ऐसा इनको बनाने वाली निर्माता कम्पनियों ने भी नहीं सोचा होगा। परन्तु सुप्रीम कोर्ट के आर्डर के कारण अब ऐसा भी हो रहा है कि पान मसाला एवं गुटखा के पाउच देहरादून की हर गली, चौराहे पर खुलेआम बगैर किसी भय के दोगुने-चौगुने दामों पर बेचे जा रहे हैं।