बेलगाम नौकरशाही राज्‍यमंत्री पर भारी

प्रदेश मे बेलगाम नौकरशाही सरकार के मंत्रियों पर भी भारी पड़ रही है।प्रदेश सरकार के मंत्रियों की आवाज भी सरकारी अफसर अनसुना कर दे रहें है।मामला गाजीपुर के समाज कल्याण विभाग से जुड़ा हुआ है। जहां एक महिला के प्रार्थनापत्र पर कार्यवाही को राज्यमंत्री विजय मिश्र की सिफारिश के बावजूद चार महीनों से सरकारी कर्मचारी और अधिकारी लटकायें हुये हैं।बताया जा रहा है,कि जिले के सौरम गांव की रहने वाली एक महिला ने पति के मरने के बाद पारिवारिक लाभ के लिए समाज कल्याण विभाग मे प्रार्थना पत्र दिया। सदर विधायक और प्रदेश सरकार मे राज्यमंत्री विजय मिश्र ने महिला के प्रार्थना पत्र पर बीते जनवरी माह मे अपनी सिफारिश भी लगाई,लेकिन समाज कल्याण विभाग की ओर से आज तक कोई कार्यवाही नही की गई।महीनों से इस मामले के लंबित होने से और खुद कई बार निर्देशित करने के बाद भी कार्यवाही न होने से नाराज राज्य मंत्री आज खुद विभाग मे जा पहुंचे और अधिकारियों को कार्य प्रणाली मे तेजी लाने का निर्देश दिया।इस मौके पर मीडिया के सवालों का जवाब देते हुये राज्य मंत्री ने सरकारी विभागों की कार्यवाही पर लापरवाही का आरोप लगाया।उन्होने सरकारी दफ्तरों मे सरकार की मंशा के अनुरुप कार्य न होने का आरोप लगाते हुये कहाकि सरकारी दफ्तरों मे कर्मचारी और अधिकारी निष्क्रिय बने हुये है। जब मेरे कहे को ये अनसुना कर दे रहे है तो जनता का क्‍या होता होगा।