IAS अफसरों के करप्शन पर मोदी के मुकाबले अखिलेश कुछ ज्यादा ही मुलायम हैं

लखनऊ : भ्रष्ट आई.ए.एस. अधिकारियों के लिए यूपी एक अच्छी पनाहगाह हो सकती है क्योंकि जब लखनऊ के मानवाधिकार कार्यकर्ता और इंजीनियर संजय शर्मा ने नियुक्ति विभाग में एक आरटीआई दायर कर यूपी में तैनात आई.ए.एस. अधिकारियों के भ्रष्टाचार से सम्बंधित जानकारी लेनी चाही है तो सूबे की समाजवादी पार्टी की सरकार ने संजय को कोई भी सूचना नहीं दी है. बेहद चौंकाने वाली बात यह है कि यूपी की अखिलेश सरकार ने इस मानवाधिकार कार्यकर्ता को इन अधिकारियों के भ्रष्टाचार से सम्बंधित वे सूचनाएं देने से भी इनकार कर दिया है जिन्हें केंद्र की मोदी सरकार ने सी.वी.सी. की वेबसाइट पर सार्वजनिक किया हुआ है.

दलितों का घर फुंकवाने के बदले मिला नारद राय को मंत्रीपद!

: अस्पताल को लूट का अड्डा बनाने वाले को मंत्री बनाना सपा को पड़ेगा महंगा : अस्पताल लूटकांड में नारद राय की भूमिका पर रिहाई मंच जारी करेगा रिपोर्ट :

बलिया । रिहाई मंच ने बलिया सदर विधायक नारद राय को दुबारा मंत्री बनाए जाने को सपा सरकार द्वारा भ्रष्टाचारियों का मनोबल बढ़ाने वाला और दलित विरोधी मानसिकता का उदाहरण बताया है। मंच ने कहा है कि बलिया सदर अस्पताल को अपनी लूट का अड्डा बना देने और दलितों के घर जलवाने के पुरस्कार के बतौर नारद राय को मंत्री पद दिया जाना सपा को विधानसभा चुनाव में महंगा पड़ेगा।