काटजू-जेटली के फटे में दिग्‍गी राजा ने घुसाई टांग

नई दिल्ली : कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भारतीय प्रेस परिषद के प्रमुख मार्कण्डेय काटजू की आलोचना के लिए भाजपा नेता अरूण जेटली पर हमला बोलते हुए उनकी आलोचना को ‘अनावश्यक और अजीब’ बताया। जेटली ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी की आलोचना करने पर काटजू को आड़े हाथों लिया था।

सिंह ने एक बयान में जेटली द्वारा उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश काटजू की आलोचना को लेकर आश्चर्य जाहिर करते हुए कहा कि काटजू ने गुजरात में विकास को लेकर एक समाचारपत्र में अपने लेख में जो कहा वह सार्वजनिक रूप से आधिकारिक सूत्रों से मिले तथ्यों पर आधारित है। सिंह ने अपने बयान में कहा कि मैं न्यायमूर्ति मार्कण्डेय काटजू के खिलाफ अरूण जेटली के अनावश्यक और अजीब बयान से पूरी तरह आश्चर्यचकित हूं। (एजेंसी)

कांग्रेसी नेताओं से भी ज्‍यादा कांग्रेसी हैं काटजू : अरुण जेटली

नई दिल्ली। बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने बिहार और गुजरात सरकारों को निशाना बनाने के लिए प्रेस काउंसिल के अध्यक्ष मार्कंडेय काटजू की आलोचना की है और उन्हें इस्तीफा देने के लिए कहा है। इस पर काटजू ने पलटवार करते हुए कहा है कि राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली को इस्तीफा दे देना चाहिए। क्योंकि वो राजनीति के लिए अयोग्य हैं। अरुण जेटली ने बीजेपी की बेवसाइट पर गैर-कांग्रेसी राज्यों पर काटजू के निशाना साधने के बारे में लिखा कि ऐसा लगता है कि काटजू रिटायरमेंट के बाद नौकरी देने वालों का धन्यवाद दे रहे हैं।

जेटली ने कहा कि कि चाहे पश्चिम बंगाल, बिहार या गुजरात की गैर-कांग्रेसी सरकार हो, काटजू हमेशा इनके बारे में अंगुली उठाते रहे हैं। जेटली ने कहा कि ये किसी कांग्रेसी नेता से भी ज्यादा कांग्रेसी है। इधर, काटजू ने जेटली पर टिप्पणी करते हुए कहा कि बीजेपी नेता ने आधा सच ही सामने रखा है और वह निजी हमले को लेकर काफी नीचे उतर आए हैं। काटजू ने कहा, जब फेसबुक प्रकरण को लेकर दो लड़कियों की गिरफ्तारी हुई थी, तब मैंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की भी आलोचना की थी। मैंने हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी उस वक्त नोटिस जारी किया, जब उन्होंने एक मीडियाकर्मी को कैमरा तोड़ने की धमकी दी थी। इसलिए मैंने कांग्रेसी सरकार की भी आलोचना की है।

ताजा विवाद गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में एक अंग्रेजी दैनिक में जस्टिस मार्कंडेय काटजू के लिखे लेख के बाद पैदा हुआ। काटजू ने लेख में नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए देश के लोगों से अपील की है कि वे सोच-समझकर प्रधानमंत्री चुनें। (आईबीएन)