‘आपको सिर्फ मसाला चाहिए’, अन्‍ना ने भी दीपक चौरसिया पर उठाया सवाल

नई दिल्ली। दीपक चौरसिया को तो आप जानते ही होंगे। आजतक के जरिए टीवी चैनल की दुनिया में आए। फिर डीडी न्यूज भी गए और अब कांग्रेसी नेता विनोद शर्मा के इंडिया न्यूज चैनल में मुख्य संपादक की नौकरी कर रहे हैं। यहां से पहले वे एबीपी न्यूज में नौकरी कर रहे थे। वैसे भी चौरसिया इन दिनों खूब चर्चा में हैं। चाहे भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष मारकंडेय काटजू द्वारा उन्हें धमकाने की बात हो या फिर आम आदमी पार्टी से टकराव की बात हो, दीपक चौरसिया ने भी एक तरह से खुद को चर्चित करने के लिए बॉलीवुड का सा फार्मूला ढूंढ लिया लगता है। जहां हर फिल्म को चर्चित करवाने के लिए एक नया विवाद पैदा करना पड़ता है। यही हालत इन महोदय की है।

अब नए चैनल में मोटे पैकेज पर नौकरी मिली है तो मालिकान को भी अपना टैलेंट दिखाना है। इसलिए रोज नया बखेड़ा पैदा कर रहे हैं। ताजा मामला अरविंद केजरीवाल और उनके समर्थकों से टकराव का है। यही वजह है कि चौरसिया को आजकल सपने में भी आम आदमी पार्टी के कर्ताधर्ता अरविंद केजरीवाल ही नजर आते हैं। टीवी पर चाहे किसी का भी इंटरव्यू हो, उनकी बातचीत में केजरीवाल की चर्चा आ ही जाती है। ऐसा ही बुधवार रात को हुआ। इंडिया न्यूज चैनल ने रात दस बजे उन्नाव से अन्ना हजारे और पूर्व सेना अध्यक्ष जनरल वीके सिंह से लाइव बातचीत का इंतजाम किया। चैनल की ओर बातचीत करने के लिए दीपक चौरसिया खुद मौजूद थे। बातचीत की शुरुआत पहले जनरल वीके सिंह से हुई। लेकिन एक-दो सवाल के बाद फिर अरविंद केजरीवाल पर ही आकर रूक गई। हर सवाल ऐसा पूछा जाता जिसमें कहीं न कहीं केजरीवाल का जिक्र हो।

जब अन्ना हजारे की पारी आई तो दीपक चौरसिया ने आगामी आंदोलन के कार्यक्रम से बातचीत की शुरुआत की लेकिन फिर केजरीवाल पर आकर डट गए। बोले अन्ना टीम क्यों टूटी, ऐसा क्या हुआ। कभी भय्यू महाराज का नाम लेकर तो कभी स्वामी अग्निवेश का नाम लेकर हर बार अन्ना से केजरीवाल के बारे में सवाल पूछा जाता और सवाल भी देश की जनता के नाम पर। यानी गड़े मुर्दे उखाड़ने की कोशिश की जाती। हर बार दीपक चौरसिया कहते अन्ना देश की जनता जानना चाहती है। अब देश की जनता का तो पता नहीं लेकिन चौरसिया जरूर जानना चाहते थे। जब हर बार केजरीवाल ही केजरीवाल रहा तो अन्ना से भी रहा नहीं गया। उन्होंने भी कह दिया कि आपके पास और कोई सवाल नहीं है व हर बार केजरीवाल से संबंधित सवाल ही क्यों पूछते हो।

अन्ना ने कहा कि हमारा कोई झगड़ा नहीं हुआ और हमारे को क्यों लड़वाते हो। मेरे पास ऐसी कभी कोई बात नहीं आई। अन्ना ने तो दीपक चौरसिया को यहां तक कह दिया कि आपको तो सिर्फ मसाला चाहिए और जिसने जैसा चश्मा पहना हो, उसे वैसा ही नजर आता है। इस पर चौरसिया की शक्ल देखने लायक थी। वे अन्ना को स्पष्टीकरण देने लगे कि अन्ना मैं तो चश्मा पहनता ही नहीं। यानि वे इतना बौखला गए कि यह नहीं समझ पाए कि अन्ना किस संदर्भ में बातचीत कर रहे हैं। तब जनरल वीके सिंह ने बीच में आकर दीपक चौरसिया से यह कहकर कि समय हो गया है, इस बातचीत को बंद करवाया। यह बातचीत तो बंद हो गई लेकिन बाद में दीपक चौरसिया की बेशर्मी देखिए कि उन्होंने कहा कि अपनी साफगोई के लिए मशहूर अन्ना हजारे केजरीवाल के मुद्दे पर सवाल टालते रहे। तो यह थी खुद को सबसे अलग और सबसे बढ़िया दिखाने की कोशिश करने वाले दीपक चौरसिया की आंखों देखी हकीकत।

दरअसल इंडिया न्यूज चैनल पर दीपक चौरसिया ने भय्यू महाराज के जरिए अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधने की शुरुआत थी। इस महाराज ने अपने इंटरव्यू में केजरीवाल पर कई आरोप जड़े थे। जब इंडिया न्यूज वाले केजरीवाल की बाइट लेने के लिए गए तो अरविंद ने यहां तक कह दिया कि यह हत्यारे का चैनल है। इसके बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता भी चौरसिया के पीछे पड़ गए। यहां तक कि रामलीला मैदान में अन्ना हजारे के अनशन के दौरान की एक आडियो क्लिप भी जारी कर दी। जिसमें चौरसिया की पोल खोलने की कोशिश की गई है। इसके बाद से यह टकराव लगातार बढ़ता जा रहा है।

लेखक दीपक खोखर पिछले 15 साल से भी अधिक समय से पत्रकारिता में सक्रिय हैं और फिलहाल हरियाणा के रोहतक शहर में प्रसार भारती की प्रसारण सेवाओं से जुड़े हुए हैं। उनसे मोबाइल नंबर 09991680040 पर संपर्क किया जा सकता है।