नईदुनिया से जुड़े चंदन मिश्रा, न्‍यूज11 से पंकज प्रसून का इस्‍तीफा

प्रभात खबर, दिल्‍ली में कार्यरत चंदन मिश्रा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे अपनी नई पारी नईदुनिया, इंदौर के साथ शुरू करने जा रहे हैं. उन्‍हें सब एडिटर बनाया गया है. चंदन दैनिक भास्‍कर से इस्‍तीफा देकर प्रभात खबर पहुंचे थे. वे इसके पहले भी कुछ संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. इनकी गिनती अच्‍छे पत्रकारों में की जाती है.

न्‍यूज11 रांची से खबर है कि पंकज प्रसून ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सीनियर प्रोड्यूसर के पद पर कार्यरत थे. वे अपनी नई पारी कहां से शुरू करने वाले हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. माना जा रहा है कि यहां की परिस्थितियों से नाराज होकर पंकज ने इस्‍तीफा दिया है. वे इसके पहले नक्षत्र न्‍यूज, देश लाइव, जूम टीवी, सीएनबीसी आवाज जैसे संस्‍थानों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. 

जींद में ब्राह्मणों ने पंजाब केसरी की होली जलाई (देखें तस्‍वीरें)

जींद में पंजाब केसरी की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं. परशुराम पर खबर लिखना अखबार के ब्‍यूरोचीफ जसमेर मलिक के गले की हड्डी बन गया है. जींद का ब्राह्मण समाज अखबार के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहा है. अखबार का विरोध करते हुए ब्राह्मणों ने पंजाब केसरी की प्रतियां जलाईं. इन लोगों राज्‍यपाल को पत्र लिखकर अखबार, संपादक तथा ब्‍यूरोचीफ के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. 

गौरतलब है कि पंजाब केसरी के जींद एडिशन में प्रकाशित एक खबर में परशुराम को पहला ऑनर किलर बताया गया था. इसके बाद से ही विरोध शुरू है. कुछ दिन पूर्व पंजाब केसरी कार्यालय में ब्राह्मण समाज से जुड़े कई लोग घुसकर जसमेर मलिक से हाथापाई करने की भी कोशिश की थी. ब्राह्मण समाज के लोगों ने गांव बराह में 12 गांवों की पंचायत आयोजित कर‍के अखबार के बहिष्‍कार करने का भी ऐलान किया था.

मूल खबर – जींद में ब्राह्मण समाज ने पंजाब केसरी के ब्‍यूरोचीफ का किया बहिष्‍कार

जींद में ब्राह्मण समाज ने पंजाब केसरी के ब्‍यूरोचीफ का किया बहिष्‍कार

जींद : समाचार पत्र पंजाब केसरी में "परशुराम ने की थी पहली आनर किलिंग" की हेडिंग से प्रकाशित हुआ समाचार जींद ब्यूरो चीफ जसमेर मलिक के लिए गले की फांस बन गया है। इस समाचार को लेकर यहाँ के ब्राह्मण समाज में गहरा आक्रोश है। ब्राह्मण समाज इस खबर से बुरी तरह नाराज है जिसके चलते यह मामला ब्राह्मणों के मध्य गहरा तूल पकड़ता जा रहा है तथा एक बड़े विवाद की शक्‍ल लेता जा रहा है।

इस समाचार के प्रकाशित होने पर जीन्द पंजाब केसरी कार्यालय में ब्राह्मण समाज से जुड़े कई लोग आ घुसे और उन्होंने इस मामले को लेकर ब्यूरो चीफ जसमेर मलिक के साथ हाथापाई भी करने की कोशिश की, परन्‍तु पंजाब केसरी के अन्‍य स्‍टाफ एवं अन्‍य लोगों ने दखल देकर जमसेर को उनके चंगुल से बचाया। इस दौरान पंजाब केसरी कार्यालय के समक्ष लोगों का गहरा जमघट लग गया, जिसे बड़ी मुश्किल से समझाबुझा कर पुलिस द्वारा वापिस भेजा गया।

इस मामले को लेकर ब्राह्मण समाज के लोगों ने गांव बराह में 12 गांवों की पंचायत आयोजित की तथा खबर को प्रकाशित करने वाले पंजाब केसरी तथा ब्‍यूरोचीफ जमसेर मलिक का सामाजिक बहिष्‍कार करने का ऐलान किया। इसके पश्‍चात ब्राह्मण समाज के लोग जिला उपायुक्‍त एवं एसपी से मिलकर अपनी शिकायत दर्ज कराई तथा ब्‍यूरोचीफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की। इस खबर से ब्राह्मण समाज बुरी तरह नाराज है।