डीएम साहब, हमका पत्रकार बना देईं

पत्रकारों के भौकाल से कुछ लोग इस कदर प्रभावित हो जाते है कि उसी भौकाल के लिए पत्रकार बनने की जद्दोजहद में जुट जाते है। ऐसे लोगों का पत्रकारिता से कोई वास्ता नही होता। उनके लिए ‘‘पत्रकार’’ शब्द सिर्फ स्वार्थ सिद्धि का पर्याय नजर आता है। उसी भौकाल के लिए ऐसे लोग तमाम अखबारों या न्यूज चैनलों में हर तरह के जुगाड़ लगाकर इन्ट्री लेना चाहते हैं। लेकिन गाजीपुर में एक शख्स ने नए तरिके से अपने नाम के साथ ‘‘पत्रकार’’ शब्द जोड़ने की कवायद शुरू की है।