नींद से जागी सरकार, रेप-मर्डर के आरोपियों पर लगेगा रासुका

: डीएम से मांगी गई रिपोर्ट : इलाहाबाद। आखिरकार सूबे की सरकार की ढाई महीने बाद नींद खुली। जिले के शंकरगढ़ इलाके में रेप के बाद किशोरी को आग में जलाकर हत्या करने वालों पर सख्ती करने की कवायद शुरू हो गई है। इस जघन्य वारदात के आरोपियों पर जल्द ही रासुका लगाया जाएगा। प्रदेश शासन के गृह विभाग द्वारा डीएम से रिपोर्ट मांगने के बाद जिला प्रशासन ने रिपोर्ट तैयार करना शुरू कर दिया है। जल्द ही रिपोर्ट शासन को भेज दी जाएगी।

यमुनापार स्थित शंकरगढ़ क्षेत्र के जिगना गांव में पांच दिसंबर को दिल दहला देने वाली वारदात हुई थी। कक्षा नौ में पढ़ने वाली एक किशोरी को रेप करने के बाद उसे आग में जला दिया गया था। गंभीर दशा में किशोरी को शहर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कई दिनों तक जीवन-मौत के बीच संघर्ष करने के बाद किशोरी ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। इसमें तीन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई। करीब ढाई महीने बाद शासन ने इस मामले में कड़ा रूख अख्तियार किया है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तीन दिन पहले गृहमंत्रालय से जानकारी ली। प्रमुख सचिव गृह आरएम श्रीवास्तव ने इलाहाबाद के डीएम राजशेखर को पत्र लिखकर गैंगरेप और हत्या के आरोपियों पर रासुका लगाने का प्रस्ताव भेजने को कहा है। डीएम ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि जल्द ही आरोपियों पर रासुका लगा दिया जाएगा।

इलाहाबाद से शिवाशंकर पांडेय की रिपोर्ट.