बच्चों के विकास के लिए चिंतित हैं डॉ. कलॉम : प्रो. यशपाल

जाने माने शिक्षाविद प्रो. यशपाल ने कहा है कि बच्चों के जरिये यह बात आनी चाहिए कि उनके शिक्षक कैसे हो? उसी के अनुसार अध्यापकों को प्रशिक्षण देना होगा। जब बच्चों को यह आजादी दी जायेगी तभी उनमें रचनात्मकता का विकास होगा। पूर्व यू.जी.सी. चेयरमैन और जे.एन.यू. के पूर्व चांसलर पदमभूषण प्रो. यशपाल मंगलवार को कुशीनगर आयें और प्रो. यशपाल बुधवार को बुद्ध पीजी कालेज में विज्ञान और प्रौ़द्योगिकी मन्त्रालय के सौजन्य से आयोजित इंस्पायर इंटर्नशिप कैंप में भाग लिये। ग्लोबल साइंस फोरम के लाईफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजे गये।

राजस्व गांव के लिये बन टांगियों का धरना, सांसद चुनते हैं पर प्रधान नहीं

उत्तर प्रदेश में एक ऐसे भी समुदाय के लोग रहते हैं जो सांसद के लिये वोट देते हैं पर प्रधान के लिये मत देने का अधिकार नहीं है। यह हैं महराजगंज के सोहगी बरवॉ वन्य जीव प्रभाग के अंदर बसे बन टांगियां परिवार के लोग। महराजगंज जनपद में 42 हजार हेक्टेयर क्षेत्रफल में फैले जंगल में लगभग 5 हजार बन टांगियां परिवार रहते हैं। यह लोग 1937 से जंगल में टांगियां पद्धति से जंगल लगाते आये हैं।

नेपाल के पूर्व युवराज गम्भीर, देश की जनता को नहीं है संवेदना

हार्ट अटैक के कारण पॉच दिन पूर्व बैंकाक के एक अस्पताल में भर्ती हुए नेपाल के पूर्व युवराज पारस शाह का अवस्था में अभी भी सुधार नहीं हुआ है। उनके शरीर का तापक्रम सामान्य से ज्यादा गर्म है। तथा ओपेन हर्ट सर्जरी करने की तैयारी चल रही है। पारस के उपचार कर रही डाक्टरों के पैनल ने आज यानि रविवार सुबज 10 बजे जानकारी दिये हैं,  कि अभी उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है।

नेपाल: प्रधान न्यायधीश ने कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनने से किया इनकार

महराजगंज। पड़ोसी मुल्क नेपाल मे शनिवार को सर्वसम्मति से प्रधान न्यायाधीश खिलराज रेग्मी को प्रधानमंत्री चुने जाने के चौबीस घंटे बाद  रविवार की देर रात मामला विगड़ गया। श्री रेग्मी सियासी दलों के हस्तक्षेप से आजिज आकर राष्ट्रपति डा0 रामबरन यादव से मिलकर सशर्त प्रधानमंत्री बनने से मना कर दिया। जिससे एक बार फिर नेपाल की सियासत में अनिश्चय की स्थिति पैदा हो गयी है।

केन्द्र ने मृतकों के परिजनों के लिये भेजा 37 लाख

महराजगंज। नेपाल में  बीते 15 जुलाई को नहर में बस गिर जाने के कारण मारे गये भारतीय श्रद्धालुओं के परिजनों को प्रधानमंत्री राहत कोष से 37 लाख रूपया भेजा है।

एसपी साहब! वर्दी को संदेह से उबारिए

महराजगंज  पुलिस विभाग के उच्चाधिकारी जितना भी वर्दी पर दाग लगने से बचाने के लिए कड़े निर्देश जारी कर दें पर इसका असर महकमें के नीचले पायदान पर आते आते बेअसर साबित होता है। उच्चाधिकारी अवैध शराब की बिक्री पर कभी तो इतना कड़ा निर्देश देते हैं  कि ऐसी शिकायतें मिलने पर थाना प्रभारी नपते । पर जमीनी हकीकत बिल्कुल विलोम ही है। इस पर नियंत्रण के बजाय वर्दी बकायदे इस कारोबार में शामिल हो गई है। इसका खुलासा निचलौल थानाक्षेत्र के सीमावर्ती शीतलापुर चौकी पर तैनात एक सिपाही द्वारा नेपाली शराब को चौकी से परागपुर गांव तक पहुंचाने के लिए सारी हदें पार किए जाने से हुआ है। सिपाही ने शराब न पहुंचाने पर उक्त टैम्पो चालक की पिटाई तक कर दी।

महराजगंज जिले में अमर उजाला हुआ नंबर वन

  महराजगंज। अमर उजाला ने पाठकों को बाधते हुये अपना सर्कुलेसन भी बढा़ लिया है। मात्र कम समय में जिले में अमर उजाला के अखबार की प्रतियां 11800 से 12000 के बीच हैं। वहीं दैनिक जागरण का 8400 से 8800 के बीच हैं। हिन्दुस्तान 7400 से 7800 के बीच बिक रही है। वहीं सहारा 5500 …

वन्यजीव अपराधी का पुलिस से रहा है गहरा रिश्ता

  महराजगंज  सोहगीबरवां वन्यजीव प्रभाग के निचलौल रेंज के जंगल सटे बढ़या गांव के पास मंगलवार को हिरन के खाल, सिंग, चरस व अवैध असलहे के साथ पकड़ा गया चर्चित आरोपी वर्षों से पुलिस से गहरा रिश्ता बनाकर अवैध कारोबार में लिप्त रहा है। आए दिन थाने पर दिखाई देने वाला यह व्यक्ति इतनी गंभीर  …

दो धड़ों में बंटी सपा कैसे पूरा करेगी मिशन 2014

     महराजगंज   विगत दो चुनावों में अमर मणि की चमक फीकी पड़ने के बाद भी सपा जिले में दो धड़ों में बंटी दिख रही है। नतीजा एक धड़ों के कार्यक्रमों में दूसरे धड़ों के लोग शामिल नहीं हो रहे हैं। अभी बीते रविवार को सपा के पूर्व सांसद व घोषित प्रत्याशी  कुंवर अखिलेश सिंह …

मैं प्रधानमंत्री पद की रेस में नहीं : प्रचंड

नेपाल में राजनीतिक उठापटक का दौर चल रहा है. प्रधानमंत्री पद को लेकर नेपाल में बीते कई दिनों से राजनीति गरमाई है. इन सबके बीच उठे प्रधानमंत्री पद पर प्रचंड की दावेदारी को उन्होंने ही नकार दिया. प्रधानमंत्री बाबू राम भटराई ने भी  प्रचंड का विरोध किया है, जबकि प्रचंड ही माओवाद के नेपाल में जन्मदाता हैं.

महराजगंज के युवक ने राजस्थान में रेप के बाद की हत्या

राजस्थान के राजसमंद जिले में महराजगंज के घुघली थाना क्षेत्र के 32 वर्षीय युवक मनोज प्रताप सिंह की दरिन्दगी से पूरा प्रदेश हिल गया है। युवक ने एक मंद वुद्धि लड़की से रेप के वाद सबूत मिटाने के लिये ईट से कुचल-कुचल कर हत्या कर दी। परिवार जनों के संदेह पर पुलिस ने मनोज से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। महराजगंज में रहने वाले आरोपित के पिता बेटे के कृत्य से सदमें हैं। उन्होने कहा कि फॉसी हो या उम्र कैद, बेटे की पैरवी नहीं करूंगा। राजस्थान के राजसमंद जिले में 8 वर्षीय वच्ची से रेप का अरोपित मनोज प्रताप सिंह राजस्थान के राजसमंद जिले में मार्बल का कार्य करता था।

हजारों विदेशी पक्षियों ने बखिरा ताल में डेरा डाला

पूर्वी उत्तर प्रदेश का बखिरा ताल इस समय मेहमान पक्षियों का शरणस्थली बना हुआ है। विदेशी मेहमान पक्षी अपने साथियों के साथ कलरव करते इस ताल में दिखाई दे रहे हैं। पूर्वांचल का यह ताल 2894 वर्ग किमी में फैला हुआ है। 1990 में सरकार द्वारा इसे बखिरा पक्षी विहार घोषित किया गया है।

टीम अन्ना ने भी प्रचार में उतरने का फैसला लिया

अन्ना हजारे की टीम ने भी चुनाव प्रचार के मैदान में उतरने का फैसला कर लिया है. अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद अपने गांव रालेगन सिद्धि में आराम कर रहे अन्ना से टीम अन्ना के सदस्य प्रशांत भूषण और अरविंद केजरीवाल ने मुलाकात करने के बाद इस खबर का ऐलान किया.

एक करोड़ में ढंकी जाएंगी मूर्तियां

हाई कोर्ट तक मामला पहुंचने के बाद भी मायावती अपनी मूर्तियों को पर्दे के पीछे जाने से नहीं रोक सकीं. चुनाव आयोग के आदेश का पालन करते हुए लखनऊ और नोएडा में आज मूर्तियों को ढंकने का काम हो रहा है. पॉलिथिन से न ढंक कर मूर्तियों के चारों ओर होर्डिंग लगाए जाएंगे, जिनका कुल खर्च करीब एक करोड़ रूपए के आसपास होगा.

उत्तराखंड में खंडूरी और कोश्यारी की जोड़ी ने निशंक को किनारे लगाया

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी की हाईटेक रणनीति व कोश्यारी की कूटनीति के चलते भाजपा के 11 विधायकों को टिकट से हाथ धोना पड़ा है. इसके अलावा आधा दर्जन विधायकों के टिकट कटने लगभग तय थे, लेकिन अंसतोष बढने की संभावनाओं को देखते हुए पार्टी थिंक टैंक को अंतिम समय में अपना निर्णय बदलना पड़ा. टिकट न मिलने वालों में दो काबीना मंत्री व दो पूर्व मंत्री भी शामिल हैं.

दबाव में है हाथी, उड़ान पर है साइकिल

: सत्ता की लड़ाई : उत्तर प्रदेश विधनसभा चुनाव में बाजी किसके हाथ : ज्यों-ज्यों उत्तर प्रदेश समेत देश के विभिन्न राज्यों का पारा लुढ़क रहा है, वैसे-वैसे चुनावी राज्यों का सियासी पारा चढ़ता जा रहा है और ये राज्य अपनी सियासी तपिश से दिल्ली को भी गर्मा रहे हैं. इन राज्यों में उत्तर प्रदेश को सबसे ज्यादा तरजीह मिलती रही है क्योंकि यही वह प्रदेश है जहां से केन्द्रीय सत्ता की राह तय होती है. प्रदेश के चुनाव में अभी वक्त है लेकिन राजनीतिक दांव-पेंच और अनुमानों का दौर चल पड़ा है. जो दल और नेता कभी अपने विरोधियों से खार खाए थे, आज उनसे गलबाहियां करने में भी कोई गुरेज नहीं कर रहे हैं. जोड़- तोड़ से लेकर गठबंधन कर अपनी राजनीतिक गोटी सेट करने में लगे हैं.

पूर्व मंत्री और कांग्रेस प्रत्याशी के घर से कुख्यात इनामी बदमाश गिरफ्तार

बदायूं : चुनाव से पहले यूपी पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है। पूर्व राज्यमन्त्री और शेखुपूर से कांग्रेस प्रत्याशी भगवान सिंह शाक्य के आवास से कुख्यात बदमाश हरीश पहाड़िया को गिरफ्तार किया गया। पहाड़िया प्रशान्त मर्डर केस में वांछित था और उस पर पंद्रह हजार रूपये का इनाम भी था। पुलिस के लिये एक चुनौती बन चुके हरीश को पकड़ने के लिए बदायूं पुलिस हर हथकन्डे अपना चुकी थी और अंततः आज उसे सफलता मिल गई। इस समय जब चुनावी वक्त पूरे जोर पर है ऐसे में पूर्व राज्यमंत्री के घर से एक अपराधी की गिरफ्तारी ने मंत्री जी को बड़ी परेशानी में डाल दिया है।

चुनाव आयोग की गलती से लाखों वोटर न कर पाएंगे मतदान

चुनाव आयोग उत्तर प्रदेश में जहाँ एक ओर आम लोगों को जागरूक करने तथा वोटर बनाने के लिए जोरदार अभियान चला चुका है वहीं उसकी खुद की गलती से प्रदेश के लाखों वोटर्स के मतदान से वंचित रहने की समस्या खड़ी हो गयी है। उत्तर प्रदेश चुनाव आयोग की इस गलती अथवा लापरवाही का खुलासा वाराणसी में समाजवादी जनपरिषद के कैंट से उम्मीदवार अफलातून देसाई ने पत्रकारों से बातचीत में किया।

वर्दी के नशे में चूर थाना प्रभारी ने पत्रकार को पीटा

: पीड़ित ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर लगायी न्याय की गुहार : बाराबंकी। थाना सफदरगंज अंतर्गत स्कूल समय में सड़क पर घूम रहे शिक्षक का फोटों खीचने पर एक पत्रकार की वर्दी के नशे में चूर थानाध्यक्ष ने सरेआम जमकर लातो घूसों से पिटाई कर दी। इतना ही नहीं थानाध्यक्ष ने उसको पूरी रात हवालात में रखने के बाद दूसरे दिन धारा 151 के तहत चालान करके जेल भेज दिया। पीड़ित पत्रकार ने प्रदेश की मुख्यमंत्री सहित उच्चाधिकारियों को शिकायती पत्र भेजकर दोषी थानाध्यक्ष के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही की मांग की है।

यूपी भाजपा : भ्रष्ट और हत्यारे नहीं हो सकते नायक

भारतीय जनता पार्टी वास्तव में नैतिकता वाली पार्टी है। इस प्रदेश के लोग भरोसा कर रहे थे कि अब ऐसी पार्टी सत्ता में आने की बात कर रही है जो खुद को ‘पार्टी विद डिफरेंस’ बताती है। पार्टी के सभी नेता बहुत दिनों से जोर शोर से ऐलान कर रहे थे कि इस चुनाव में वे उन सभी लोगों को बेनकाब कर देंगे जो यूपी में भ्रष्टाचार का तांडव मचाते आये हैं। पार्टी बड़े जोर शोर के साथ दागी नेताओं को सबक सिखाने की बात भी कर रही थी। मगर जिस घोटाले ने पूरे प्रदेश में ही नहीं बल्कि देश भर में हंगामा मचा दिया था उसके सूत्रधार को पार्टी में शामिल करके देश भर के लोगों को संदेश दे दिया कि भाजपा के दांत खाने के और तथा दिखाने के और हैं। इस एक कदम ने पार्टी को उन साफ सुथरे लोगों से बहुत दूर कर दिया जो इस पार्टी से तनिक भी परिवर्तन की उम्मीद लगाये  बैठे थे।

एक दिन संपादकीय प्रकाशित नहीं होने से क्या होता है

मणिपुर में उग्रवादियों से मिल रही लगातार धमकियों के विरोध में मंगलवार, 3 जनवरी को वहां के अखबारों में संपादकीय प्रकाशित नहीं हुए। आल  मणिपुर वर्किंग जर्नलिस्ट्स यूनियन के एक प्रवक्ता ने बताया कि विभिन्न गुटों के उग्रवादी अखबारों पर आरोप लगाते हैं कि वे उनके बयानों को जगह नहीं देते हुए उनके विरोधियों से जुड़ी बातों को प्रकाशित करते हैं और इसके लिए ये गुट स्थानीय अखबारों को धमकियां देते हैं।

एनबीटी ने एनसीआर के लिए लांच किया विशेष संस्‍करण

टाइम्स समूह के अखबार नवभारत टाइम्स ने एनसीआर में अपनी स्थिति को और मजबूत बनाने की दिशा में कदम बढ़ा दिया है. एनबीटी ने सोमवार को एनसीआर के लिए अपना विशेष अति स्‍थानीय संस्करण शुरू किया है. अखबार के दाम में कोई वृद्धि नहीं की गई है. अखबार मैनेजमेंट की कोशिश है कि पाठकों को उतने ही मूल्‍य में उनकी हर छोटी-बड़ी खबर पढ़ने को मिले.

चुनाव के दौरान अफवाह फैलने से रोकने में मदद करे मीडिया

गोण्डा। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी राम बहादुर ने कहा है कि लोकतंत्र के सफल संचालन में मीडिया की महती भूमिका है। इसलिए आगामी विधानसभा के चुनाव को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने के लिए आप सबको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि समाज में किसी प्रकार का अफवाह न फैले और यदि कहीं से भी इसकी शुरुआत हो गई है तो इस पर तत्काल अंकुश लगे।

ऐसे खतरनाक समय में मैं शुभकामनाएं दूं तो किसे दूं

आप को नये साल की शुभकामनाएं। शुभकामनाएं सबको अच्छी लगती हैं, जाहिर है मेरी शुभकामना आप को अच्छी लगेगी। पर किन्हीं खास मौकों पर ही क्यों? होली, ईद, दीवाली या नये साल पर ही क्यों? हम निरंतर शुभकाम क्यों नहीं रह सकते। कुछ चुने हुए लोगों के लिए, मित्रों के लिए ही शुभकामनाएं क्यों? तमाम अनाम, अनजान लोगों के जीवन में होली, दीवाली, नया साल जैसे आता ही नहीं।

गोविंद पंत राजू ने साधना न्यूज संग शुरू की नई पारी

वरिष्ठ पत्रकार गोविंद पंत राजू के बारे में खबर है कि उन्होंने साधना ग्रुप ज्वाइन कर लिया है. वे साधना न्यूज यूपी-उत्तराखंड के हेड के बतौर काम करेंगे. गोविंद के साधना ज्वाइन करने की पुष्टि साधना न्यूज के एडिटर इन चीफ एनके सिंह ने की. गोविंद पंत राजू आजतक न्यूज चैनल के लिए यूपी-उत्तराखंड ब्यूरो चीफ के रूप में लंबी पारी खेल चुके हैं. वे बीच में कई अखबारों चैनलों में सलाहकार की भूमिका में रहे.

विष्णु नागर ने कविता के जरिए याद किया जनकवि नागार्जुन को

नोएडा : अखिल भारतीय भाषा साहित्य सम्मेलन की राष्ट्रीय राजधानी इकाई ने नव वर्ष की पूर्व संध्या पर एक सरस-सबरंग गीतों और ग़ज़लों का एक रोचक कार्यक्रम नोएडा स्थित रायटर्स डेस्क के सभागार में आयोजित किया जिसका श्रोताओं ने देर रात तक मंत्र मुग्ध होकर आनंद लिया। पी7 न्यूज चैनल के निदेशक शरद दत्त की अध्यक्षता में हुए इस कार्यक्रम का प्रारंभ कविताओं से हुआ जिसकी शानदार शुरूआत ओजस्वी कवि अरविंद पथिक ने की, जिसमें उन्होंने नए वर्ष का स्वागत और बीते साल से शिकवे-शिकायतें भी की। इसके बाद संस्कार सारथी के संपादक मुकेश परमार मंच पर आए।