न्‍यूज नेशन को अलविदा कर आजतक में एसोसिएट एडिटर बनीं चारुल मलिक

अल्‍फा समूह के चैनल न्‍यूज नेशन को बड़ा झटका लगा है. चैनल की प्रमुख एंकर तथा एडिटर कम इंटरटेनमेंट हेड चारुल मलिक ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे एबीपी न्‍यूज को छोड़कर न्‍यूज नेशन पहुंची थीं. चारुल ने अपनी नई पारी आजतक चैनल के साथ शुरू की है. वे कुछ समय पहले ही न्‍यूज नेशन पहुंची थी. चारुल का जाना न्‍यूज नेशन के लिए बड़ा झटका है. चारुल आजतक में एसोसिएट एडिटर के पद पर ज्‍वाइन किया है. वे मुंबई में रहकर एंकरिंग करने के साथ इंटरटेनमेंट शोज की जिम्‍मेदा‍री भी संभालेंगी.

बताया जा रहा है कि चैनल की कार्यशैली से चारुल खुद को जोड़ नहीं पा रही थीं. वे सात सालों तक स्‍टार न्‍यूज/एबीपी न्‍यूज के साथ जुड़ी हुई थीं. अपने लगभग डेढ़ दशक के करियर में चारुल सहारा समेत कई अन्‍य संस्‍थानों को भी सेवा दे चुकी हैं. उनकी राजनीति के साथ खेल समेत कई मुद्दों पर जोरदार पकड़ है. चारुल का आजतक से जुड़ना चैनल के एंकर पूल के लिए अच्‍छी खबर मानी जा रही है क्‍योंकि चैनल से अभिसार शर्मा, अजय कुमार समेत कई लोग इस्‍तीफा देकर जा चुके हैं.

आजतक से इस्‍तीफा देकर रतिश पहुंचे न्‍यूज नेशन

: गौरी भी देंगी इस्‍तीफा : आजतक से खबर है कि रतिश शिवम त्रिवेदी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे प्रोड्यूसर थे तथा रन डाउन की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. रतिश अपनी नई पारी अल्‍फा समूह के चैनल न्‍यूज नेशन के साथ शुरू करने जा रहे हैं. उन्‍हें यहां पर सीनियर प्रोड्यूसर बनाया गया है. वे पिछले पांच सालों से आजतक को अपनी सेवाएं दे रहे थे. रतिश ने करियर की शुरुआत कानपुर में अमर उजाला के साथ की थी. इसके बाद वे स्‍टार न्‍यूज से जुड़ गए. स्‍टार न्‍यूज से इस्‍तीफा देने के बाद आजतक ज्‍वाइन कर लिया था.

आजतक से ही दूसरी खबर है कि ट्रेनी गौरी भी इस्‍तीफा दे रही हैं. वे टीवी टुडे के ट्रेनिंग इंस्‍टीट्यूट से पास आउट थीं. वे अपनी नई पारी कहां से शुरू करेंगी इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.

आजतक के रिपोर्टर ने वसूला विधायक से करवा चौथ का शगुन!

बात किसी दूर-दराज के इलाके की नहीं, राजधानी दिल्ली की है। द्वारका क्षेत्र के विधायक सुमेश शौकीन नाम के ही नहीं, काम के भी शौकीन हैं। वे हर साल करवा चौथ पर द्वारका में एक विशाल कार्यक्रम आयोजित करते हैं और उसमें सैकड़ों महिलाओं को मेहंदी लगाने का आयोजन होता है व इलाके के परिवारों के मनोरंजन के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम भी। पिछली बार उनके इस कार्यक्रम को मीडिया में पर्याप्त जगह नहीं मिली थी इसलिए इस बार उन्होंने अपने एक पत्रकार मित्र को पब्लिसिटी का जिम्मा सौंपा। पत्रकार ने कई चैनलों और अखबारों के ऑफिस में इनवाइट भेजा और रंग-बिरंगे कार्यक्रम की झलक दिखाने का जिक्र किया।

आयोजन की खासियत देख कर कई चैनलों के हेड-ऑफिस से कार्यक्रम की कवरेज के लिए टीमें भी आईं और सजी-धजी महिलाओं वाले इस आयोजन को अपने-अपने टीवी पर दिखाया भी। लेकिन नंबर वन चैनल होने का दावा करने वाले आजतक के रिपोर्टर एक रिपोर्टर ने कार्यक्रम स्थल पर ही विधायक जी को घेर लिया। किसी प्रोफेशनल वीडियो कैमरामैन की भांति रिपोर्टर ने कहा, हो गया कवरेज़, अब निकालो बख्शीश। विधायक जी थोड़ा चौंके और उनलोगों से मिठाई वगैरह खाने का अनुरोध किया। लेकिन बादल साहब नहीं माने और बीस-पचीस हजार की फरमाइश करने लगे। अंत में मामला दस हजार पर तय हुआ और वे इसी रकम का शगुन लेकर टरके।

किस्सा त्यौहार बीतने के कई दिनों बाद तब सामने आया जब प्रेस रिलीज़ तैयार करने और इनविटेशन भेजने वाले लड़के को कुछ खर्च देने की बात उठी। विधायक जी ने जब अपने पत्रकार मित्र को इस खर्च की जानकारी दी तो उन्होंने आजतक के अपने मित्रों से शिकायत की। खबर है कि आजतक के एनसीआर आधारित चैनल (दिल्ली आजतक) ने अपने इस रिपोर्टर के खिलाफ जांच बिठा दी है, लेकिन कुछ शुभचिंतक उसका बचाव करने में भी जुटे हुए हैं।

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.

राहुल कंवल करेंगे सीधी बात, एमजे का क्‍या होगा!

आजतक से बड़ी खबर है. प्रभु चावला की विदाई के बाद 'सीधी बात' करने वाले एमजे अकबर अब इस कार्यक्रम में नहीं दिखेंगे. इस साप्‍ताहिक हिंदी टॉक शो को हेडलाइंस टुडे के एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर राहुल कंवल होस्‍ट करेंगे. राहुल प्रतिभाशाली जर्नलिस्‍ट हैं, पर एमजे अकबर क्‍यों इस शो से खुद को अलग किया या उन्‍हें अलग कर दिया गया, इसको लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं. प्रभु चावला की विदाई के बाद से एमजे ही इस शो को होस्‍ट कर रहे थे. 

पिछले दिनों ही चर्चानुमा खबर आई थी कि टीवी टुड़े प्रबंधन और एमजे अकबर के बीच हुआ सालाना कांट्रैक्‍ट 31 अक्‍टूबर को खतम होने वाला है, प्रबंधन अब इसे आगे रिन्‍यू नहीं करेगा. तब इस बात को एक हलके में अफवाह का नाम दिया गया था. हालांकि पिक्‍चर अब भी पूरी तरह क्‍लीयर नहीं है कि एमजे अकबर का क्‍या होगा, पर राहुल कंवल की सीधी बात में इंट्री ने कुछ बात टेड़ी होने का संकेत जरूर दे दिया है. एमजे अकबर के टीवी टुडे में भविष्‍य को लेकर भी कयास लगाए जाने लगे हैं.

लोकसभा सांसद रह चुके एमजे अकबर के बारे में वैसे भी जबतक चर्चाएं उड़ती ही रहती हैं कि वे राज्‍यसभा जाने वाले हैं. पर इन चर्चाओं की आधिकारिक पुष्टि अभी तक नहीं हुई है. पर अब जब 'सीधी बात' राहुल कवंल करेंगे तो कयास लगाया जा रहा है कि टीवी टुड़े ग्रुप में अंदरखाने कुछ न कुछ तो पक ही रहा है. जल्‍द ही जिसकी महक बाहर आएगी. इस टॉक शो को शुरुआत से होस्‍ट करते आ रहे प्रभु चावला जब नीरा राडिया समेत कई विवादों में घिरने के बाद इस ग्रुप से अलग हुए थे तब से एमजे अकबर ही हर सप्‍ताह 'सीधी बात' होस्‍ट कर रहे थे.

सीधी बात के लिए प्रबंधन का विश्‍वास जीतने वाले राहुल कंवल ने करियर की शुरुआत 1999 में जी न्‍यूज के साथ एंकर कम रिपोर्टर के रूप में शुरू की थी. उसके बाद वे 2002 में आजतक से जुड़ गए. 2008 में उन्‍हें हेडलाइंस टुडे में भेज दिया गया. एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर बनने से पहले राहुल एक टॉक शो 'लास्‍ट वर्ड' को भी होस्‍ट कर रहे थे. राहुल दिल्‍ली यूनिवर्सिटी से स्‍नातक हैं तथा पत्रकारिता की पढ़ाई विदेश से की है.