यूपी में 26 आईपीएस भी बदले, जकी अहमद बने आईजी पीटीएस मेरठ

आईएएस अफसरों को बदले जाने के साथ 26 आईपीएस अधिकारी भी इधर से उधर किए गए हैं. गाजीपुर, गोरखपुर, आगरा, झांसी समेत कई जिलों में बदलाव हुए हैं. शासन ने प्रदेश में कानून व्‍यवस्‍था को चुस्‍त दुरुस्‍त करने के लिए ये बदलाव किए हैं. इन बदलावों में पुलिस अधीक्षक महोबा अब्‍दुल हमीद को पुलिस अधीक्षक शामली, पुलिस अधीक्षक कासगंज सुभाष सिंह बघेल को एसपी अमरोहा, पुलिस अधीक्षक शामली राजेंद्र प्रसाद पाण्‍डेय को पुलिस अधीक्षक कासगंज बनाया गया है.

यूपी के 26 आईएएस अधिकारियों को मिली नई तैनाती

लखनऊ : प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को फिर से प्रशासनिक जिम्‍मेदारियों में फेरबदल करते हुए 26 आईएएस अधिकारियों को नई तैनाती प्रदान की. कौशांबी, हाथरस, अम्बेडकर नगर और गाजीपुर के डीएम भी बदल दिए गए हैं. सत्येंद्र सिंह को निदेशक पंचायती राज से डीएम कौशाम्बी, संयुक्ता समद्दर को डीएम हाथरस से प्रतीक्षारत, अनिल राज कुमार को विशेष सचिव ग्राम्य विकास को हाथरस, प्रभुनारायण सिंह को डीएम गाजीपुर से प्रतीक्षारत, चंद्रपाल सिंह विशेष सचिव चिकित्सा से डीएम गाजीपुर, सौरभ बाबू को प्रतीक्षारत से राहत आयुक्त, आदर्श सिंह को प्रतीक्षारत विशेष सचिव परिवहन बनाया गया है.

बलात्कारी पुलिस अधिकारी को राष्ट्रपति पुरस्कार से नवाजने की घोषणा

Himanshu Kumar : छत्तीसगढ़ के एक और बलात्कारी पुलिस अधिकारी को राष्ट्रपति पुरस्कार से नवाजने की घोषणा करी गई है. इस बलात्कारी पुलिस अधिकारी का नाम है एसआरपी कल्लूरी. लेधा नामक एक आदिवासी महिला के साथ कल्लूरी और उसके सिपाहियों ने एक माह तक बलात्कार किया था. कल्लूरी साहब ने लेधा के गुप्तांगों में मिर्चें भर दी थीं. लेधा ने जिला जज के सामने अपने बयान में यह सब दर्ज करवाया था. लेकिन कल्लूरी ने पीड़ित महिला लेधा और उसके परिवार पर दबाव बनाना शुरू किया तो मानवाधिकार कार्यकर्ता उस बलात्कार के मामले को छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट में ले गये.

उस झूठे और करप्ट आईजी की फर्जी प्रेस रिलीज को किसी पत्रकार ने नहीं छापा

Himanshu Kumar : जब हम दंतेवाड़ा में काम करते थे तब एक बार वहाँ एक आई जी साहब की नियुक्ति हुई. एक बार उन्होंने पत्रकारों को अपने आफिस में बुलाया. अपने एक पत्रकार मित्र के साथ मैं भी वहाँ चला गया. आईजी साहब के कार्यालय में एक आदिवासी लड़का जिसकी उम्र करीब सोलह साल की होगी और साथ में एक आदिवासी लड़की जिसकी उम्र करीब पन्द्रह की रही होगी, सहमे हुए बैठे थे. दोनों ने नक्सलियों वाली एकदम नई हरी वर्दी पहनी हुई थी. मुझे शक हुआ कि जंगल से आने वाले नक्सली के पास एकदम नए साफ़ कपडे कहाँ से आये?

वर्दी पहने एसएसपी ने सबके सामने सपा महासचिव रामगोपाल यादव का चरण स्पर्श किया

समाजवादी पार्टी के महासचिव और राज्यसभा के सांसद रामगोपाल यादव के एटा में हो रहे एक कार्यक्रम में कुछ ऐसा दिखा जो चौंकाने वाला था। ड्यूटी पर तैनात एसएसपी अजय मोहन शर्मा कार्यक्रम में नेताजी के पैर छूते नजर आए। दरअसल, रामगोपाल यादव इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे और सपा नेताओं में उनके पैर छूने की होड़ मची हुई थी। लगे हाथों एसएसपी साहब ने भी रामगोपाल यादव के पैर छू लिए।