नाम मीडिया कप, खेल रहे हैं पेशेवर खिलाडी

बड़े-बड़े माफियाओं से लेकर भ्रष्टाचारी नेताओं की कलई खोलने का काम हम पत्रकारों का है। गैरसंवैधानिक रूप से ही सही, लोग जब हमें लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहते हैं तो हम अपने आपको गौरवान्वित महसूस करते हैं, पर चंद घटिया सोच रखने वाले और चाटुकार पत्रकारों की ओछी हरकतें पत्रकारिता के लिए शर्मनाक बन जाती है। ऐसे लोग चंद मिनटों के निजी फायदे के लिए पत्रकार शब्द को कौड़ियों के भाव बेच देते हैं। मै बात कर रहा हूँ दरभंगा, बिहार में हो रहे प्रमंडल स्तरीय मीडिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट का।