जो हुआ, उसे मैं कभी भूल नहीं सकता

आज बहुत दिनों बाद मैं आपलोगों को याद कर रहा हूँ… मुश्किल और कठिनाई भरी जिंदगी से निकलकर आपलोगों को याद कर रहा हूँ… मैंने जो जिंदगी जी है, वो भगवान किसी को न दे… एक ऐसी जिंदगी जिसमें मैंने अपना सब कुछ दांव पर लगा दिया… उस समय ऐसा लग रहा था कि मैं अब इससे शायद बाहर नहीं आ पाउँगा पर हमेशा ऊपर वाले और खुद पर विश्‍वास करता था, हमेशा भगवान से यही कहता था कि मै अगर सही हूँ तो मुझे इस दुःख से आप ही निकालोगे… और हुआ भी ऐसा ही… सच्चाई की ही जीत हुई…