प्रभात खबर में छपी इस रिपोर्ट को सलाम!

अनंत झाप्रभात खबर के देवघर संस्करण के 11 अक्तूबर के अखबार का पहला पन्ना. हैरतअंगेज, अविश्वनीय, या यूं कह लें सभ्य समाज के मुंह पर तमाचा. हम भारतीय खुद के महाशक्ति कहलवाने के लाख दावे करें लेकिन हमारे दावों की पोल खोलने वाली इस रिपोर्ट को पढ़कर शायद किसी का भी कलेजा मुंह को आ जाए. हम खुद को लाख आधुनिक होने का दावा कर लें, लेकिन इस खबर ने हमें इस बात का एहसास करा दिया है कि हमारे अंदर का इंसान मर गया है और मर गयी है हमारी सोच व संवेदना.