इस शोर के बीच पसरा सन्‍नाटा

मैं डेटलाइन इंडिया में था। आलोक जी एस1 चैनल में ज्वाइन करने का मन बना चुके थे। बताया कि मैं कल से चैनल में काम करूंगा और आप यहां का काम संभालेंगे। मैंने कहा-आप चिंता मत कीजिए। ‘‘मैं हूं ना’’। उन्होंने कहा मुझे पता है कि आप हैं। फिर हल्की फुल्की बातचीत हुई और आखिर में उन्होंने बताया कि आगे से बात करते वक्त इस बात का खयाल रखिएगा कि आप एक चैनल हेड से बात कर रहे हैं। मैंने कहा कि आप भी मत भूलिएगा कि मैं भी एक संस्था का सर्वेसर्वा हूं और इसीलिए बातचीत हमेशा बराबरी के स्तर पर ही होगी। मुझे लगता है कि आपको ऐतराज नहीं होना चाहिए। वे मान गए।