संपादक ने बनारस के तीन हिंदुस्‍तानियों को कहीं और नौकरी तलाशने का फरमान सुनाया

वाराणसी: हिन्‍दुस्‍तान में चांडाल-चौकड़ी ने आखिरकार तीन और लोगों के पेट पर लात मार दिया। इन सभी को बस इसी महीने तक ही नौकरी पर रखा जाएगा। कहा गया है कि कहीं और देख लो कामकाज, हमें तुम्‍हारी जरूरत नहीं। वजह बतायी गयी है इनके कामकाज का स्‍तर खराब है। जबकि यह सभी बरसों से हिन्‍दुस्‍तान में काम कर रहे थे और पिछले प्रबंधनों ने तो इन्‍हें नियमित तक करने की सिफारिश भेजी थी।

अरविंद और विजय तिवारी हिन्‍दुस्‍तान पहुंचे

जनवाणी, मेरठ में कार्यरत अरविंद शर्मा का मोह अखबार से खतम हो गया है. उन्‍होंने जनवाणी को बाय बोलकर मेरठ में ही हिंदुस्‍तान ज्‍वाइन कर लिया है. वे जनवाणी में रिपोर्टिंग की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. हिंदुस्‍तान में उन्‍हें डेस्‍क पर लाया गया है. वे रीजनल डेस्‍क पर अपनी जिम्‍मेदारी निभाएंगे. इसके पहले अरविंद शर्मा डीएलए और दैनिक जागरण को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

पूर्वांचल में दो अखबारों के ब्यूरो प्रभारियों को जान का खतरा!

इन दिनों पूर्वांचल के दो जिलों के दो अखबारों के दो ब्‍यूरोचीफों को जान का खतरा हो गया है! हालांकि दोनों के ऊपर खतरा होने के कारण अलग-अलग हैं. पहला मामला चंदौली के एक बड़े अखबार के ब्‍यूरोचीफ का है जबकि दूसरा मामला मीरजापुर के दूसरे बड़े अखबार के ब्‍यूरोचीफ का है. चंदौली वाले ब्‍यूरोचीफ ने एसपी को पत्र भी लिखा है जिसके बाद उन्‍हें एक गनर मुहैया कराया गया है जबकि मीरजापुर वाले ब्‍यूरोचीफ खुद इधर-उधर बचते फिर रहे हैं.

विपुल सिंह बनारस, अंजीब श्रीवास्‍तव इलाहाबाद के यूनिट हेड बने

हिंदुस्‍तान से सूचना है कि यहां आतंरिक फेरबदल हुए हैं. इलाहाबाद के जीएम विपुल सिंह का तबादला वाराणसी यूनिट के लिए कर दिया गया है. अब वे बनारस के यूनिट हेड होंगे. विपुल इसके पहले टाइम्‍स ऑफ इंडिया से जुड़े हुए थे.  उनके स्‍थान पर बनारस के यूनिट हेड अंजीब कुमार श्रीवास्‍तव का तबादला इलाहाबाद …

मोहम्‍मद दानिश की नई पारी, अभिषेक का तबादला

हिंदुस्‍तान, बरेली से मोहम्‍मद दानिश ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे मार्केटिंग विभाग में कार्यरत थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक जागरण के साथ बरेली में शुरू की है. उन्‍हें असिस्‍टेंट मैनेजर बनाया गया है. बताया जा रहा है कि दानिश हिंदुस्‍तान के कुछ वरिष्‍ठों की कार्यप्रणाली से नाराज चल रहे थे. संभावना है कि मार्केटिंग से दो और विकेट गिरेंगे.

लखीमपुर ब्‍यूरो में भी ताला लगाएगा हिंदुस्‍तान!

पश्चिम बंगाल और उड़ीसा के बाद हिंदुस्‍तान अब उत्‍तर प्रदेश में लखीमपुर खीरी ब्‍यूरो को भी बंद करने जा रहा है. सूत्रों का कहना है कि प्रबंधन  इस ब्‍यूरो को बंद करने का फैसला ले चुका है. उल्‍लेखनीय है कि अखबार प्रबंधन पहले ही तय कर चुका है कि पांच हजार से कम सर्कुलेशन वाले ब्‍यूरो बंद किए जाएंगे. आसनसोल और राउरकेला से इसकी शुरुआत भी हो चुकी है.

अभिषेक ने हिंदुस्‍तान, निखिल ने भास्‍कर छोड़ा

हिंदुस्‍तान, बरेली से अभिषेक पांडेय ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे मार्केटिंग विभाग में कार्यरत थे. अभिषेक अखबार की बरेली में लांचिंग के समय से ही जुड़े हुए थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी एसओडीपी टूर एंड ट्रेवेल्‍स कंपनी से शुरू की है. अभिषेक ने सीनियर एक्‍जीक्‍यूटिव ग्रुप सेल्‍स के पोस्‍ट पर ज्‍वाइन किया है. हिंदुस्‍तान से पहले अभिषेक अमर उजाला के साथ मुरादाबाद और देहरादून में भी काम कर चुके हैं.

मुगलसराय में हांफने लगे जागरण, हिंदुस्‍तान और उजाला

: हॉकरों का हड़ताल तीसरे दिन भी जारी : प्रसार प्रबंधकों के रिरियाने-मिमियाने का भी असर नहीं : मुगलसराय में सोमवार को भी दैनिक जागरण, हिन्‍दुस्‍तान और अमर उजाला को वितरकों ने हाथ नहीं लगाया. इसका सीधा फायदा राष्‍ट्रीय सहारा और आज अखबार को मिला. हॉकरों ने दोनों अखबारों को हाथों हाथ लिया. सहारा ने दस हजार और आज ने पांच हजार अतिरिक्‍त कॉपियां भेजी थीं. स्थिति को देखते हुए तीनों अखबारों ने काफी कम कॉपियां भेजी थीं बावजूद उसके वे सेंटरों पर ही पड़े रह गए.

मनोज ने जागरण एवं नरेन्‍द्र ने युनाइटेड भारत ज्‍वाइन किया

हिंदुस्तान, इलाहाबाद से मनोज यादव ने इस्‍तीफा दे दिया है. यहां पर वे स्ट्रिंगर थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक जागरण के साथ इलाहाबाद में ही शुरू की है. उन्‍हें स्‍टाफर बनाया गया है. मनोज का जाना हिन्‍दुस्‍तान के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. वे पिछले 12 सालों से हिन्‍दुस्‍तान को अपनी सेवाएं दे रहे थे.

पत्रकार पवन सिंह सहित चार पर दर्ज हुआ मुकदमा

वाराणसी के सोयेपुर शराब काण्ड में अदालत के आदेश पर कैंट थाने में हिन्‍दुस्‍तान के पत्रकार पवन सिंह सहित चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. अपर पुलिस अधीक्षक नगर विजय भूषण ने बताया कि वंशनारायण राजभर, अजय गुप्‍ता, सुरेश पाल एवं पवन के विरुद्ध कई धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है. इसकी सूचना अदालत को भी दे दी गई है.