जामिया प्रकरण : भूख हड़ताल जारी

जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पत्रकारिता के छात्र और छात्राएं आज भी भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं. अनशनरत छात्रों मंगलवार को वीसी नजीब जंग से मुलाकात की और परीक्षा में बैठने की इजाजत मांगी. छात्र-छात्राओं ने मांग की कि मेडिकल ग्राउंड पर उन्हें हाजिरी में छूट दी जाए, वीसी ने उनकी बात सुनी लेकिन यूनिवर्सिटी नियमों व कोर्ट के आदेशों का हवाला देते हुए फैसले में किसी तरह के बदलाव से इनकार कर दिया. इस बीच अनशनरत स्‍टूडेंट्स ने भूख हड़ताल जारी रखने का फैसला किया है.

अपनी-अपनी शर्तों से पीछे हटने को तैयार नहीं जामिया प्रशासन और छात्र

कम हाजिरी के चलते परीक्षा देने से रोके गए एजेके मास कम्युनिकेशन एंड रिसर्च सेंटर के 17 छात्रों का आंदोलन गम्भीर रूप लेता जा रहा है। रविवार को मामले में स्थानीय पुलिस के हस्तक्षेप के चलते मचे हंगामे के बाद सोमवार को फिर छात्र-प्रशासन अपने-अपने पक्ष पर अड़ गए हैं। जामिया प्रशासन ने साफ कर दिया कि किसी भी छात्र के साथ अनुचित कार्रवाई नहीं हुई है, जबकि भूख हड़ताल पर बैठे छात्र आज भी मेडिकल सर्टिफिकेट के आधार पर राहत की मांग कर रहे हैं।

JAMIA UNIVERSITY : HUNGER STRIKE FROM TODAY

In a blatant case of discrimination and harassment around 17 students of the well known Anwar Jamal Kidwai Mass Communication Research Centre of Jamia Millia Islamia have been de barred from appearing for their final examinations. Out of these 17 students, 14 students are from the ‘reputed’  M.A  (Mass communication) post graduate course. All these students have medical claims that their Director ‘Prof. Obaid Siddiqui’  has discarded calling cases with histories of diseases as old as 12 years and 6 years fake among others.