‘अग्निवेश पहले जासूस के रोल में रहे, अब आंदोलन तोड़क की भूमिका में हैं’

Yashwant Singh : एक चैनल के डिबेट में… मुझे अग्निवेश को कहना पड़ा कि जासूसी करने की जगह अगर आप आंदोलन को मजबूत करते तो शायद देश ज्यादा मजबूत होता… लेकिन आपने तब भी आंदोलन तोड़ा और आज भी घूम घूम कर तोड़ने को राष्ट्रीय कर्तव्य साबित करने में जुटे हैं…

Vivek Singh : अरे यशवंत भैया बहुत बड़ा फ्राड है ये जब अन्ना जी अनशन पर थे तो ये कांग्रेस वालो से सेटिंग कर रहा था कि सब ख़त्म हो जायेगा और अब कह रहा है की ये हुआ था वो हुआ था, इसका तो स्टिंग आ गया था,
 
Santosh Kr Singh : Satya vachan..waise janta is swami ki asliyat janti hai.
 
Meetesh Dixit : Inko janta hi kaun h….is desh ki bheed ne ache acho ko line par la diya to ye kaun h..
 
bevajh : kisi ko mahatva dena apna samy barbad krna hai
 
Rahul Tripathi : बहोत सही कहा बड़े भईया ….और ऐसा सच हिम्मत वाले ही बोलते है
 
Pramod Kumar : Agnivesh aaj kal ke jinnah hain, jo personal mileage ke liye kuchh bhi kar sakate hain.
 
Dharmendra Gupta : swami RAAKH-vesh…
 
Sandesh Dixit : video link dijiye sahab !!
 
Ravish Raj Parmar : Jagdalpur, Chhattisgarh me ye kuch dino phle aaya tha
 
Rajan Mishra : bahut khub bole
 
Rajnikant Gupta : यशंवत जी मैने आप को कल साधना न्युज के प्रोग्राम में देख भी रहा था और सुन भी रहा था आप के द्वारा कहे शब्दों में तत्वो का समावेश था …………
 
Jitendra Dixit : यशवंत भाई, अन्ना आंदोलन के विघ्नविशारद अग्निवेश को आपने आईना दिखा कर एकदम सही किया है।
 
Vivek Choudhary : Bahut badhiya …
 
Yogesh Kumar Sheetal : उन्होंने, माफ कीजिएगा, उसने फिर क्या कहा?
 
Yashwant Singh छ वो क्या कहेंगे, अपनी ढपली अपना राग… मैंने उन्हें बताया कि एक पत्रकार दिलनवाज पाशा ने अन्ना से पूछा कि ''अग्निवेश आपका नाम लेकर कई तरह के आरोप केजरीवाल पर लगा रहे हैं'' तो अन्ना ने सिर पकड़ लिया और कहा कि ''सनसनी के लिए ऐसे आरोप नहीं लगाए जाने चाहिए…'' मेरे इतना कहने पर अग्निवेश बोले- मुझे नहीं पता अन्ना ने क्या कहा, लेकिन मैंने वही कहा जो मैने देखा सुना है… सोचिए, अन्ना इनकार कर रहे हैं आरोपों से और अग्निवेश जी अन्ना के नाम के सहारे केजरीवाल को बर्बाद करने का गेम खेल रहे हैं…
 
Vaibhav Sharma : You done best work…
 
Rajiv Chaturvedi : Sateek…!!
 
Amit Dwivedi : Bahut badhiya
 
Satesh Sharma : YE sant nahi Yashwant ji, ye to bhakjhak hai..

Shravan Kumar Shukla : क्या धोया सर.. मज़ा आ गया.. यु-ट्यूब पे भी है.!

Dhani Naresh : आपने खरा जवाब दिया. मेरा ख़याल है कि अग्निवेश ने अपना रहस्योद्घाटन इंडिया न्यूज़ के रीलॉन्च के साथ ही किया है. बड़ा वक़्त लग गया नई साज़िश तलाशने में. आपने सही कहा, जासूसी की बजाए भ्रष्टाचार विरोधी कुनबे को जुटाने में लगते तो देश का भला होता. मग़र दीपक चौरसिया, भय्यू और स्वामी ये तीन तिलंगे असल मुद्दों से ध्यान भटकाने में जी जान से जुट गए हैं… ''कपिल मुनि… अरे ये तो पागल हाथी हो गया है'' यही स्वामी अग्निवेश हैं ना जिन्हें पूरे देश ने वीडियो में बलबलाते हुए देखा और सुना है.

Shailendra Singh : sahi kaha.
 
Tomar Sanjeev : You are absolutely right.
 
Vinayak Sharma : स्वामी अग्निवेश चर्चा के लिए नहीं बल्कि चर्चित रहने के लिए ही कार्य करते हैं.

भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *