अपने देश में आतंक से दुखी हैं पाकिस्‍तानी पत्रकार

चंडीगढ : सिटी ब्यूटीफुल में चंडीगढ़ प्रेस क्लब द्वारा आयोजित की गई पंज दरिया कांफ्रेंस में भाग लेने आए 32 सदस्यीय पाकिस्तानी जर्नलिस्टों के दल में शामिल कई पत्रकार अपने देश में खराब कानून व्यवस्था की स्थिति से बहुत खिन्न हैं। इस दल में चार पाकिस्तानी महिला जर्नलिस्ट भी शामिल हैं। स्थानीय पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में वह तस्लीम करते हैं कि पाकिस्तान में हालात अब इतने खराब हैं कि किसी को भी किसी पर भरोसा नहीं रहा। कल क्या होगा इस पर लगातार अनिश्चितता बनी रहती है। लोग घरों से निकलने से कतराते हैं और भीड़-भाड़ वाले इलाकों से दूर रहना ही गनीमत समझते हैं।

एक महिला पत्रकार ने बताया कि कानून व्यवस्था की स्थिति कुछ ऐसी है कि महिलाओं ने नकली सोने के आभूषण पहनना शुरू कर दिए हैं। कुछ अन्य पत्रकारों ने बताया कि देश के विभिन्न भागों में आत्मघाती हमलों ने आम जनता तथा सुरक्षा बलों के साथ-साथ उनका जीना भी हराम कर रखा है क्योंकि उन्हें इस प्रकार की घटनाओं को कवर करने हेतु जल्द से जल्द घटना स्थल पर पहुंचना होता है। कई बार तो वे वारदात के स्थान पर पुलिस तथा एमरजैंसी मैडीकल टीमों से भी पहले पहुंच जाते हैं और बचाव कार्य में हाथ बंटाते हैं।

आत्मघाती हमलों में हुई बर्बादी के दृश्य कुछ ऐसे भयावह होते हैं कि उन्हें रात को नींद नहीं आती। कई पत्रकारों ने दबी जुबान में बताया कि पाकिस्तान के मौजूदा हालात फिलहाल सरकार के काबू से बाहर है। जनता में यह आम प्रभाव है कि कई आतंकवादी संगठनों को फौज का संरक्षण प्राप्त है इसलिए वह अपनी गतिविधियां बेरोक टोक कर रहे हैं और सुरक्षा कर्मी उनके विरुद्ध कोई भी कार्रवाई करने से बच रहे हैं। (पीके)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *