अबकी टैक्स चोरी में फंसे अभिषेक मनु सिंघवी

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने आयकर विभाग से नोटिस मिलने के बाद अघोषित आय का ब्यौरा देकर 3.26 करोड़ रुपये का आयकर जमा किया. इस मामले का निपटारा करने के लिए सिंघवी अब इनकम टैक्स सेटलमेंट कमीशन (आईटीएससी) का दरवाजा खटखटा रहे हैं. सिंघवी ने आयकर विभाग से नोटिस मिलने के बाद सिंघवी ने 11 करोड़ रुपये की 'अघोषित आय' का ब्योरा देने के साथ इसके लिए 3.26 करोड़ रुपये का कर अदा किया है. कांग्रेस प्रवक्ता ने बताया, 'मेरे रिटर्न में अतिरिक्त इनकम का जिक्र नहीं किया गया था. जो शख्स मेरा अकाउंट देखता है, उसने हिसाब लगाने में गड़बडी की थी. यह लापरवाही उसकी ओर से बरती गई है.'

दूसरी तरफ, आयकर विभाग सिंघवी के घोषित 11 करोड़ से संतुष्ट नहीं है. उसका कहना है कि कांग्रेस प्रवक्ता के दिये गये ब्योरे सही नहीं है. विभाग का आकलन है कि सिंघवी ने 22.86 करोड़ रुपये का ब्योरा नहीं दिया है, जिस पर 7 करोड़ रुपये की कर देनदारी बनती है. हालांकि, सिंघवी इससे सहमत नहीं हैं. आयकर विभाग ने 2011 के अंत में असेसमेंट ईयर 2010-11(फाइनैंशल ईयर 2009-10) के लिए नोटिस भेजने शुरू किए थे. आकलन है कि इस एक साल की अवधि में ही उन्होंने 22.86 करोड़ रुपये की आय का ब्योरा रिटर्न में नहीं दिया. आयकर विभाग को शक है कि दूसरे सालों के दौरान भी उन्होंने आय का सही ब्योरा नहीं दिया होगा और अघोषित आय इससे कहीं ज्यादा हो सकती है. जांचकर्ता अब उनके द्वारा भरे गए अन्य वर्षों के रिटर्न्स की भी जांच कर रहे हैं.

हालांकि, सिंघवी का कहना है कि उन्होंने 11 करोड़ की जो आय घोषित की है, वह असेसमेंट ईयर 2010-11 से शुरू होकर तीन सालों के लिए है.उन्होंने कहा, 'मैंने 3.26 करोड़ की टैक्स देनदारी का भुगतान कर दिया है और मेरी अपील सही है. उन्होंने कहा कि असेसमेंट ईयर 2010-11 की जांच रिपोर्ट के आधार पर 22.86 करोड़ की अतिरिक्त आय की बात कही जा रही है, लेकिन इस रिपोर्ट में ही कहा गया है कि अभी और जांच की जरूरत है. हम भी इस आंकड़े से सहमत नहीं हैं.' दूसरी तरफ, जोधपुर के इनकम टैक्स कमिश्नर ने आईटीएससी को बताया, 'आवेदनकर्ता (सिंघवी) ने अतिरिक्त आय को काफी कम कर बताया है. इसके अलावा भारी मात्रा में कैश विद्ड्रॉल्स के लिए जिन खर्चों का हवाला दिया गया है, वे भी संदेह से परे नहीं हैं. सिंघवी ने अपना आयकर रिटर्न जोधपुर से भरा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *