अमेरिका नहीं भेजे जाने की गारंटी चाहते हैं जूलियन असांजे

सिडनी। विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे ने सोमवार को इस बात की राजनयिक गारंटी दिए जाने की मांग की कि यदि उन्हें आपराधिक आरोपों का सामना करने के लिए स्वीडन भेजा जाता है तो गोपनीय दस्तावेजों के प्रकाशन को लेकर उन्हें अमेरिका के हवाले नहीं किया जाएगा। 40 साल के ऑस्ट्रेलियाई नागरिक असांजे ने कहा कि वह यौन शोषण आरोपों में बहस का सामना करने के लिए स्वीडन जाने को तैयार हैं लेकिन उन्हें डर है कि स्टॉकहोम उन्हें अमेरिका के हवाले कर देगा जहां उन पर विकीलीक्स द्वारा किए गए खुलासों के लिए जासूसी और साजिश रचने के आरोपों का सामना करना पड़ सकता है।

उन्होंने लंदन में इक्वाडोर दूतावास से सिडनी मर्निंग हेराल्ड को बताया, 'अंतत: यह मामला इस बात पर निर्भर करेगा कि ब्रिटेन, अमेरिका और स्वीडन किस प्रकार की गारंटी देने के इच्छुक हैं।' उन्होंने इक्वाडोर से शरण दिए जाने की अपील की है। विकिलीक्स ने इराक और अफगानिस्तान युद्धों समेत कई राजनयिक केबल को सार्वजनिक कर दिया था। असांजे ने कहा, 'उदाहरण के लिए, यदि अमेरिका इस बात की गारंटी देता है कि उनके खिलाफ जांच बंद कर दी जाएगी तो यह महत्वपूर्ण होगा। राजनयिक प्रतिबद्धताओं का वजन होता है।' स्वीडन के प्रत्यर्पण से बचने के लिए पिछले करीब एक सप्ताह से इक्वाडोर दूतावास में रह रहे असांजे ने एक बार फिर उनके मामले से निपटने के तौर तरीकों को लेकर ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री जूलिया गिलार्ड की आलोचना की। (एजेंसी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *