अरनब गोस्वामी से कोई लाइव ही टाइम्स आफ इंडिया वालों के इस करप्शन के बारे में पूछ ले

Yashwant Singh :  लगातार बोलते रहने वाले अरनब गोस्वामी से कभी किसी को लाइव ही पूछ लेना चाहिए कि हे टाइम्स आफ इंडिया के गुलाम संपादक, क्या मुंबई में जो जमीन एक रुपये में सरकार ने टाइम्स ग्रुप को अखबार निकालने के लिए दी, वहां से अब भी अखबार निकल रहा है या नहीं? उस एक रुपये में मिली सरकारी जमीन पर टाइम्स वाले बिजनेस, धंधा, बैंकिंग, किराया आदि का कारोबार कर रहे हैं और टाइम्स आफ इंडिया का आफिस कहीं और शिफ्ट कर दिया है… यह अनैतिक काम है या नहीं?

मुंबई के एक वरिष्ठ पत्रकार ने कल विस्तार ये यह जानकारी दी तो मैं चौंक गया. लगा कि इस पर विस्तार से लिखा जाना चाहिए. दूसरों को नसीहत, खुद मियां फजीहत. आजकल का दौर ऐसा है कि लोग अपने गिरेबां में नहीं, दूसरों के चेहरों-घरों की रंगत देखा करते हैं… हिप्पोक्रेसी का ऐसा चरम पता नहीं कभी था या नहीं… या, संभव है, यही हिप्पोक्रेसी, यही अंतरविरोध की प्रकृति का मूल स्वभाव हो… पता नहीं… कनफ्यूज हूं.. लेकिन मुझे इन उलटबांसियों को देखकर सच में बांसुरी बजाने का मन कर रहा है, किसी पड़ोसी के खेत में उगे पेड़ की डाल पर बैठकर…

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से. फेसबुक पर यशवंत से संपर्क https://www.facebook.com/yashwant.bhadas4media या https://www.facebook.com/yashwantbhadas के जरिए किया जा सकता है.


उपरोक्त स्टेटस पर आए कुछ कमेंट इस प्रकार हैं…

        Subhash Tripathi oh Really com
 
        Pawan Kumar सही कहा सर
   
        Amit Maurya Dho dala bhaiya ji
    
      माधो दास उदासीन ऊंची जबान वाले प्रमोशन भी जल्दी पा जाते होंगे
         
        Anurag Chaturvedi मुंबई में टाइम्स लीज को लेकर महाराष्ट्र की सरकार पर हमेशा दबाब बनाता है.कांदिवली में कब्रिस्तान पर प्रेस खोला और वीटी की इमारत में जम कर तोड़फोड़ की. टाइम्स ने कानून तोड़ना अपना अधिकार मान लिया है. इनकी जाँच ज़रूरी है.
 
      पी सी रॉय जो पैसे से फिट है, वही चैनल अखबार हिट है ।
         
        Narendr Kumar Gupta सबके सब नंगे! जो छिपाने में माहिर, वो ईमानदारी का अवतार.
         
        Ashok Tiwari आज सुबह जब रोज की तरह मैंने टाइम्स ऑफ़ इंडिया का मुख्य पेज देखा तो यकीन नहीं हुआ की ये नेशनल न्यूज़ पेपर है। गत वर्षो में 26 जन के पेपर में राष्ट्रपति का रास्त्र के नाम संदेश एवं उनका फोटो जरूर होता रहा परन्तु आज यह सब नदारद रहा। आज दिल्ली के cm छाये रहे। क्या यह सब किसी दबाव में या प्रेम में।
         
        Ashutosh Na Real कोई तो हो जो लोकतंत्र के इस महत्वपूर्ण खम्भे के काले सच को उजागर करे।
         
        Journalist Pankaj Sharma Pankaj good
         
        Vikas Pandit Veeky Sir dhandha h par ganda h ye . .
         
        Alok Ranjan nice one sir….mai bhi suna hu ki congress ne…HO RAHA BHARAT NIRMAN ke liye heavy amount diya hai sath…me rahul gandhi ka interview bhi bonus me mila hai…..usne TIMES NOW debate me anarchy 66 times bola ….jab bjp or congress bhart bund karte hai aur road pe kisi ko nikal ne nai dete…us din kya hota hai….jab emergency ,sikh riot,godhra,bhagalpur,mujaffarnagar…ye sab kya hai…..????? arnav goswami ka double standard aap log aise log ko aage aa kar batana chahiye…..
         
        Suresh Gandhi true…
         
        Nripendra Singh फिर भी अर्नव गोस्वामी निष्पक्षता के साथ कांग्रेस सहित सभी के विरुद्ध समय-समय पर चर्चा कराते रहते है| आप के कथन के परिपेक्ष्य में उनके हिम्मत की दाद देनी चाहिए|

TC Chander दिल्ली का हाल कौन सा कम है, नज़र डालें और छापें…
 
Faisal Anurag Arnav ji es par hansenegen.kahengen desh yah nahi jaanana chahta.modi ko esase kya nuksaan hai.
 
Ashish Pandey Baba sahmat hun…
 
Syed Quasim aur ito ki tamaam buildigen bhi…
 
Alka Bhartiya aisa hi hain gar mediay wale imandar ho jate to kab desh ka yah haal hota jo ho rahh hain
 
Alok Kumar यशवंत भाई, टाइम्स ऑफ इंडिया के मालिक अशोक जैन पर फेरा का गंभीर केस रहा। वो फरार थे। विदेश में ही उनके रहस्यमत निधन की बात सामने आई । इंडियन एक्सप्रेस से उनका परिवारिक रिश्ता है। हिंदुस्तान टाइम्स की भी ऐसी ही कहानी है। इनके करतूत के आगे पेड न्यूज से करप्शन की गंभीर कहानी छोटी लगती है।
 
Shyamnandan Kumar गुरुदेव, मेरे पास एक एक्सक्लूसिव इंफॉर्मेशन है। आबिद सुरती साहब को आप जानते ही हैं। बात उनसे सीधे तौर पर जुड़ी है। आपके इनबॉक्स में एक लिंक शेयर कर रहा हूं, जरा मामले की तह तक पहुंचिए। घपला ही घपला है…!!! जनता को हक दिलाने वाले कब किसी का हक मार जाते हैं, खुद हकदार को भी पता नहीं चल पाता है।
 
Sanjay Sharma Sach hai yah ?


इसे भी पढ़ें:

आम आदमी पार्टी के मुद्दे पर Times Group सफाई क्यों दे रहा है?

xxx

केजरीवाल एंड कंपनी, एजेंडा पत्रकारिता और कुछ तथ्य

xxx

आधे मीडिया मालिक मोदी के पक्षधर और आधे राहुल गांधी के साथ : केजरीवाल

xxx

दो दिन से तरुण को बेच रहे हैं अर्नव… पर तेजपाल जैसी पत्रकारिता कब करेंगे गोस्वामी?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *