अशोक सिंघल की अवैध हिरासत के खिलाफ मानवाधिकार आयोग को शिकायत

सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने आज राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को विहिप नेता अशोक सिंघल की अवैध हिरासत के खिलाफ शिकायत भेजी है. शिकायत के अनुसार 25 अगस्त 2013 को सिंघल को अमौसी हवाईअड्डे पहुँचते ही लगभग 10.30 बजे पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया. सभी न्यूज़ चैनल ने तत्काल यह खबर प्रसारित की. अरुण कुमार, एडीजी क़ानून व्यवस्था ने लगभग 11 बजे और बाद में आर के विश्वकर्मा, आईजी क़ानून व्यवस्था और कमाल सक्सेना, गृह सचिव ने इसकी आधिकारिक पुष्टि की. 

लेकिन शंकर मुखर्जी, एसीएम-तृतीय, लखनऊ ने डीएम लखनऊ की तरफ से इलाहाबाद हाई कोर्ट, लखनऊ बेंच में इन नेताओं की ओर से दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका में अपने प्रति शपथपत्र में कहा कि सिंघल को अमौसी हवाईअड्डे पर नहीं,  बल्कि रात्रि 10.20 बजे एसओ सरोजिनी नगर द्वारा तब गिरफ्तार किया गया जब वे नवाबगंज पक्षी विहार से लौट कर शहीद पथ पर जा रहे थे.

ठाकुर के अनुसार इस प्रकार यह मामला अशोक सिंघल को 10.30 प्रातः से 10.20 रात्रि तक अवैध हिरासत में रखने और हाई कोर्ट में गलत हलफनामा दायर करने का है. उनका कहना है कि यदि इतने बड़े मामले में, जिसमे पूरे देश की मीडिया की निगाहें लगी हों, इस तरह का कृत्य किया जा सकता है तो इससे आसानी से समझा जा सकता है कि साधारण मामलों में क्या होता होगा. अतः उन्होंने इन सारे तथ्यों की जांच करा कर आवश्यक विधिक कार्यवाही किये जाने की मांग की है. साथ ही सभी राज्यों के मुख्य सचिव, गृह सचिव और डीजीपी को भी अवैध हिरासत रोके जाने के सम्बन्ध में तत्काल आदेश निर्गत करने की भी मांग की है.
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *