असीम की सेहत गिरने लगी, मीडिया और नेट यूजर्स का सपोर्ट नहीं मिल रहा

Alok Dixit :  साथियों, आज अनशन का छठा दिन है और सेहत भी गिरने लगी है. अपने गिने चुने साथियों के अलावा न तो इंटरनेट यूज़र्स का साथ मिल रहा है और ना ही मीडिया का. हमारे पास इतना बड़ा स्ट्रक्चर और फंड नहीं है कि लोगों तक ये खबर अच्छे ढंग से पहुंचा पायें. इसलिए मीडिया का ही भरोसा था कि हमारे मीडिया के साथी ये खबर लोगों तक पहुंचा देंगे और इंटरनेट यूज़र्स भी अपने अपने घर से निकलकर जंतर मंतर तक आयेंगे और आज़ादी की मांग बुलंद करेंगे. लेकिन फिलहाल अब तक तो हमारी उम्मीदें पूरी नहीं हुई हैं. 

हिन्दुस्तान में हमेशा से ही फ्रीडम ऑफ़ स्पीच सलाखों में रही है. लोगों को हमेशा ही सच कहने की कीमत चुकानी पड़ी है. जब कभी कोई घटना हुई या कोई गिरफ्तारी हुई तब तो ये एक खबर बन गयी लेकिन उसके बाद हमारी अभिव्यक्ति की आज़ादी की हिफाज़त के लिए कभी कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया. साथियों हमें आपकी मदद की ज़रुरत है. इस देश के इंटरनेट यूज़र्स की अभिव्यक्ति की आज़ादी को आपकी मदद की ज़रूरत है.

घर से बाहर निकलिए और आज़ादी की मांग बुलंद करिए क्योंकि जो आज अम्बिकेश महापात्र, एस रवि, असीम त्रिवेदी या शाहीन और रेनू के साथ हुआ है वो कल आपके साथ भी हो सकता है. अनशन के छठे दिन एक बार फिर आप से हाथ जोड़कर विनती करता हूँ कि हो सके तो इस लड़ाई में शामिल होकर सरकार तक अपनी आवाज़ पहुंचाइए और एक मुकम्मल लोकतंत्र की इस जंग में अपना योगदान दीजिये. जंतर-मंतर आइये और 66 A हटाइये….

कार्टूनिस्ट असीम त्रिवेदी के साथ अनशन पर बैठे आलोक दीक्षित के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *