आंख की इस डाक्‍टर ने मनोज एवं उनकी बेटी को गालियां देते हुए केबिन से बाहर निकाल दिया

ये न्‍यू मीडिया की ताकत ही है कि अब लोग पारम्‍परिक मीडिया को छोड़कर अपने साथ घटी घटनाओं को न्‍यू मीडिया के पटल पर रख रहे हैं. मनोज सिंह और उनकी बेटी के साथ आंख की एक महिला डाक्‍टर भारती कश्‍यप ने अत्‍यन्‍त ही बुरा बरताव किया. एक डाक्‍टर का यह काम शायद उसके पेशे के भी खिलाफ है, पर यह खबर शायद ही कोई पारम्‍परिक मीडिया दिखाए या छापेगा. यही मुख्‍य धारा की मीडिया इस डाक्‍टर की बड़ी बड़ी बयानों वाला फोटो छापता है, जबकि इस डाक्‍टर ने मनोज की मासूम बेटी के साथ इतना बुरा बरताव किया, जो एक डाक्‍टर को कतई नहीं करना चाहिए था.

अपने साथ हुए व्‍यवहार को मनोज सिंह ने भड़ास के पास लिखकर भेजा. हम भी मानते हैं कि मनोज जैसे लोग ही भड़ास की ताकत भी हैं. मनोज ने भड़ास को पत्र लिखकर यह भी साबित कर दिया है कि मुख्‍य धारा की मीडिया की चुप्‍पी के इस दौर में भड़ास उन जैसे लोगों की आवाज बन रहा है. आप भी पढि़ए मनोज का पत्र…

sir, jayada kuchh nahin lekin kam sabdon main likhana chahta hunga……… meri beti ko chickenpox hogaya, 20.05.13 ko Dr. upenderji, Child speslist, kokar ko dikhaya.
22.05.13 ko kuchh sudhar hua lekin eye main lali najar aaya to hum log Kashyap eye hospital main dikhane le gaye, 500 rs de kar no. lagaya. Dr. bharti kashyap ke junior dr. janch kiye jab finaly dr. bharti kashyap ki bari aayi jaise hi unke kebin ke gate tak meri beti gai madam ekdum se chila uthin bahar nikalo nahin to hum ko hojayega aur gandi 2 galiyan dene lagi, sara hospital ke jo bhi marij the sabne dekha yanhan tak ki unka staff bhi, madam us samay nail police lagarahi thi sayad is karan gusain ya phir pata nahi main bus likh kar itna hi bata sakta hun. aaye din unka sare hindi akhabar main photo aata hai kya sirf stage par hi dr. hai ya phir main bhadas4 media se janana chahunga ki meri beti ya phir meri kya galti thi.

मनोज सिंह

manojs069@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *