आईएएस दुर्गा नागपाल के पक्ष में खड़ा हुआ सोशल मीडिया, अखिलेश यादव की लानत-मलानत

Ashish Sagar Dixit : खनन माफियाओ के खिलाफ अभियान चलाने वाली आई.ए.एस. महिला दुर्गा शक्ति नागपाल को उनकी इमानदारी का जो सिला मिला उसके लिए उत्तर प्रदेश की सरकार को कुछ नही कहना चाहूगां क्योकि ये सरकार ही माफियाँ चलाते है l काश की बुंदेलखंड के बाँदा, चित्रकूट, हमीरपुर और महोबा में भी दुर्गा शक्ति नागपाल सा कोई होता तो बात बनती l बाँदा में तो हालात ये है की जिला खनिज अधिकारी को बालू माफिया खदानों में बंधक ही बना लेते है l तात्कालिक जिला खनिज अधिकारी जे.पी. दिवेदी ने तो खनिज निदेशक के सामने हाथ खड़े कर दिए है l उनका कहना है की जिले की पुलिस ही माफियाँ के साथ है l हर साल करीब 510 करोड़ रूपये खनिज राजस्व देने वाला बुंदेलखंड अपने ऊपर तीन दशको से किये जा रहे प्राकृतिक उजाड़ / बलात्कार से आहत है l यहाँ की काली पहाड़िया वीरान और नदियाँ अपनी कोख बालू से खाली कर रही है l मीडिया लिखता है लेकिन खबर सिर्फ रद्दी के ठेले तक ही जाकर मर जाती है l सातों जिलो में फैला खनन का सिंडीकेट सरकार की सहमती से चलता है चाहे सरकार किसी की भी रहे l

शिवा जैन : खनन माफियाओं पर आतंक बनकर टूटने वाली बहादुर आईएएस अधिकारी को खनन माफिया के दवाब में आकर उत्तर प्रदेश सरकार ने निलम्बित कर दिया.. यदि आप चाहते हैं कि इस देश में ईमानदार अफसर निडर हो कर अपने कर्तव्य निभा सकें तो इस खबर को फेसबुक पर जितना फैला सकते हैं फैलाइए और सपा सरकार को एहसास करवाइए कि हम सब दुर्गा शक्ति के कंधे से कन्धा मिला कर खड़े हैं..

Subhash Tripathi : आईएएस के निलंबन से बढ़ेगा हतोत्साहन.. भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी दुर्गाशक्ति नागपाल के निलंबन की चर्चा पूरे देश में तल्खी के साथ हो रही है। आईएएस की ईमानदारी को लेकर हर कोई निलंबन की कार्यवाही गलत बता रहा है। दिल्ली से लेकर आगरा तक कई लोगों ने व्यक्तिगत तौर से भी मुझसे इसकी चर्चा कर आपत्ति जताई। देश के राष्ट्रीय समाचार पत्रों के साथ खनन माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने वाली दुर्गाशकित के निलंबन को लेकर खबरें सुर्खियों में हैं। दूसरे राज्यों के प्रमुख अखबारों प्रभात खबर व देश बंधु जैसे अखबारों ने भी निलंबन की आलोचना करते हुए खबर को प्रमुखता से प्रथम पेज पर स्थान दिया है। आईएएस नागपाल यथा नाम तथा गुण दिखती हैं। अगर ऐसों का निलंबन हुआ तो ईमानदार अफसरों में हतोत्साहन बढ़ेगा। वैसे ही अब ये गिनती के रह गए हैं।

Mansi Manish : इस देश में आईएएस-पीसीएस बनकर सिर्फ चमचागीरी करनी होती है..जरा भी दायें-बायें किया तो वही होता है जो दुर्गाशक्ति नागपाल के साथ हुआ… बालू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई की हिम्मत करने वाली आईएएस अधिकारी को उत्तर प्रदेश सरकार ने ससपेंड कर दिया… बहाना ये ढूँढा कि सांप्रदायिक सद्भाव के खिलाफ कदम उठाया… कोई नहीं,, सच सब जानते हैं… देखते हैं कितने और रोड़े आते हैं एक बेहतर अधिकारी के रस्ते में

Sandeep Garg : सच हारने लगा है

संसद में मनमोहन सिंह ने सच को हरा दिया ,
देश और अन्ना के साथ किये वादों से मुकर गए ,

UP में अखिलेश सरकार सच को हरा दिया ,
ईमानदार IAS ऑफिसर को ससपेंड कर दिया ,

हरियाणा की हुड्डा सरकार ने सच को हरा दिया ,
वाड्रा के खिलाफ कारवाई करने वाले ऑफिसर का तबादला कर दिया ,

देश में हुए हर घोटाले के आरोपी आजाद घूम रहे हैं ,
162 अपराधी संसद में बैठे हैं ,

झूठ सच को मारने लगा है ,
सच अब हारने लगा है ,

अपने वोट का सही इस्तमाल कर ,
आम आदमी देश और सच को बचा सकता है ,
भ्रष्ट नेताओ के देश को ,
आम आदमी का देश बना सकता है , जय हिन्द

Aam Aadmi Party : IAS officer Durga Shakti Nagpal, who was in news last week for clamping down on illegal sand mafia in Greater Noida, has been suspended. The reason for the suspension of Nagpal is not clear yet. According to sources, the Samajwadi party leader Narendra Bhati was peeved against IAS officer's drive against illegal mining and thus complained about her to the SP leadership. The SP leader allegedly did this to settle scores with the officer. Nagpal had led the seizure of 24 dumpers engaged in illegal quarrying and arresting 15 people last week. This kind of action against honest officers is unacceptable.

Braj Bhushan Dubey : मुख्‍यमंत्री जी ! क्‍या कुसूर था इस भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी का। यही न कि इसने आपके विधायकों/मंत्रियों की गलत पैरवी/आदेश को नहीं माना होगा। एक बात तो साफ है कि यह अभी चोर और भ्रष्‍ट नहीं होगी इतने कम समय की नौकरी यानि कि अण्‍डर टेनिंग में। बडे उत्‍साह से नौकरी ज्‍वाइन किया होगा कि कुछ बेहतर करेंगे, सुधार करेंगे, भ्रष्‍टाचार को समाप्‍त करने का प्रयास करेंगे। गलत लोगों को कानून के हवाले करेंगे आदि। यह कौन सा गुनाह हो गया। आपका चेहरा अब विगडता जा रहा है इसे ठीक कीजिये अन्‍यथा जो लोग आपकी तारीफ करते नहीं अघाते थे वे आपको कोसेंगे और आगे हिसाब भी लेंगे। भगवान आपको सदबुद्धि दें।

फेसबुक पर आ रहीं प्रतिक्रियाओं में से कुछ का संकलन.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *