‘आरके एचआईवी एड्स’ की ओर से चंडीदत्त शुक्ल को बेस्ट फीचर एडिटर का एवार्ड

: विद्या बालन, मनोज बाजपेयी और मोनिका बेदी को मिला आरके एक्सिलेंस नेशनल अवॉर्ड्स : अभिनेता तनवीर ज़ैदी को स्पेशल जूरी अवार्ड्स : मुंबई में सक्रिय सामाजिक संस्था 'आरके एचआईवी एड्स' की ओर से आठवां आरके अवॉर्ड्स समारोह आयोजित किया गया। इस मौके पर होटल 'नोवोटेल' जुहू, मुंबई में आयोजित कार्यक्रम में बॉलीवुड की नामचीन हस्तियों ने शिरकत की। अवॉर्ड हासिल करने वालों में प्रमुख रहे–

मनोज बाजपेयी (बेस्ट एक्टर,पॉपुलर), विद्या बालन (बेस्ट एक्ट्रेस, पॉपुलर), तिग्मांशु धूलिया (बेस्ट डायरेक्टर), आदित्य चोपड़ा – यशराज फिल्म्स (बेस्ट प्रोड्यूसर), प्रमोद माउथो(बेस्ट कैरेक्टर एक्टर), मोनिका बेदी (सर्वश्रेष्ठ खलनायिका, टीवी), गुलशन ग्रोवर (सर्वश्रेष्ठ खलनायक), शक्ति कपूर (बेस्ट कॉमेडी एक्टर), अली असग़र(बेस्ट कॉमेडी एक्टर,टीवी), राजू श्रेष्ठा(प्राइड ऑफ बॉलीवुड), टीना घई(बॉलीवुड बेस्ट सोशल एक्टिविस्ट), नगमा (बेस्ट एक्ट्रेस,भोजपुरी), रवि किशन (बेस्ट एक्टर,भोजपुरी),श्रवण(बेस्ट म्यूज़िशियन – आशिकी फ़ेम), चण्डीदत्त शुक्ल (बेस्ट फीचर एडिटर), संभावना सेठ (बेस्ट आइटम डांसर), पूजा वर्मा(रोल मॉडल), के के गोस्वामी(बेस्ट कॉमेडी एक्टर,विशेष अवॉर्ड),फारुख शेख (लाइफ टाइम अचीवमेन्ट), जावेद अली (बेस्ट सिंगर), महालक्ष्मी अय्यर (बेस्ट सिंगर), अभिजीत घोषाल (राइजिंग सिंगर), जीनत अमान (लाइफ टाइम अचीवमेंट), एहसान खान (बेस्ट विलेन,जूरी), तनवीर ज़ैदी (बेस्ट एक्टर,जूरी) और रितुपर्णा सेनगुप्ता (बेस्ट एक्ट्रेस, जूरी)।

पुरस्कार वितरण राजनीतिज्ञ तारिक अनवर, अशोक सिंह, अभिनेत्री नगमा, अभिनेत्री एवं निर्माता पूनम झावर ने किया। इस अवसर पर `अरिका फिल्म्स इंटरनेशनल' की हिंदी फीचर फ़िल्म 'ये जीवन है' की खास स्क्रीनिंग भी की गई। इस फ़िल्म में तनवीर ज़ैदी और दिव्या द्विवेदी की जोड़ी है, साथ ही नवोनिता चक्रवर्ती, अंजली राणा, एहसान खान, अली असग़र, हरिओम पराशर,पप्पू पॉलिस्टर,सुनीता सिंह,संतोष श्रीवास्तव, तालिब,पीकू,राकेश श्रीवास्तव ने भी बेहतरीन अभिनय किया है। फिल्म के निर्माता तौक़ीर ज़ैदी और कार्यकारी निर्माता राही सुल्तानपुरी हैं। कहानी रूबी ज़ैदी ने लिखी, वहीं पटकथा और संवाद मेहंदी आब्दी के हैं। यूनिट निर्देशक अरविन्द सिंह और संजय अस्थाना हैं। फिल्म के निर्देशक राजेश कुमार ने बताया कि फ़िल्म की विशेष स्क्रीनिंग इसलिए की गई, ताकि एड्स के प्रति फैली भ्रांतियां दूर की जा सकें।

(प्रेस रिलीज़)
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *