‘इंडिया टुडे’ पर यकीन कर जाने के लिए माफ़ी चाहूंगा

Samar Anarya : खबरों के नाम पर पोर्नोग्राफी परोसने से लेकर दलाली तक करने वाले Dainik Bhaskar की खबरें साझा करना तो खैर कबका बंद कर चुका हूँ, पर अब तो लगता है कि मुख्यधारा की मीडिया का नाम सुनते ही मान लेना चाहिए कि खबर गलत होगी. कल एक लड़की को संगसार (stone) किये जाने को लेकर India Today की यह खबर शेयर की थी. Bobby Naqvi भाई ने आज उसका यह सच ढूंढ निकाला है.

हाँ, इसका यह मतलब कतई नहीं है कि 'इस्लामिक' दुनिया में औरतों को जुल्मोसितम के शायद सबसे बुरे दौर से गुजरना नहीं पड़ रहा, न ही ये कि दुनिया के किसी और हिस्से में औरतें आराम से हैं. पर यह जरुर है कि ऐसी हर खबर झूठ साबित होने पर इस्लाम के नाम पर अपनी ठेकेदारी करने वालों को एक और हथियार दे देती है, यह साबित करने का कि देखो कैसी कैसी 'साजिशें' हो रही हैं, कि इस्लाम 'खतरे' में है. खैर, इस बार इंडिया टुडे पर यकीन कर जाने के लिए माफ़ी, आगे से बहुत सतर्क रहूँगा.

The widely circulating story "Syrian Girl stoned to death for using Facebook" is fake

http://www.skeptical-science.com/religion/claim-syrian-girl-stoned-death-facebook-fake-story/

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकारवादी अविनाश पांडेय समर के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *