इंदौर में मैनेजमेंट गुरु अरिंदम चौधरी समेत पांच पर चेक बाउंस का केस

इंदौर से खबर है कि यहां की जिला कोर्ट ने मैनेजमेंट गुरु अरिंदम चौधरी समेत पांच के खिलाफ चेक बाउंस का केस दर्ज करने का आदेश दिया है. मामला इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लानिंग एंड मैनेजमेंट (आईआईपीएम) की विजिटिंग फैकल्टी को भुगतान का है. अरिंदम चौधरी समेत पांचों आरोपी आईआईपीएम में डायरेक्टर हैं. ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट आशुतोष शुक्ल ने यह आदेश मोनिका भाटिया की शिकायत पर दिया है.

मोनिका ने आईआईपीएम, इसके डायरेक्टर अरिंदम और मलय चौधरी, सेंटर फॉर वोकेशनल एंड एंटरप्रेन्योरशिप स्टडीज नई दिल्ली, इसके डायरेक्टर प्रसून शंकर मजूमदार, रजत थरेजा व दीपक कुमार झा को पक्षकार बनाया है. मोनिका ने चेक बाउंस का केस पेश करते हुए शिकायत किया था कि वह आईआईपीएम इंदौर में विजिटिंग फैकल्टी थी. संस्थान ने सितंबर 2013 से जनवरी 2014 के बीच 2750 रुपए के तीन चेक (कुल लगभग आठ हजार रुपए) दिए थे. लेकिन पर्याघ्त राशि नहीं होने की वजह से चेक बाउंस हो गए. कोर्ट ने निगोशिएबल इस्ट्रूमेंट एक्ट की धारा 138 के तहत केस कायम करते हुए आरोपियों को 23 अप्रैल 2014 को अदालत में सुनवाई के लिए हाजिर होने के आदेश दिए.

भड़ास तक अपनी बात, सूचना, सीक्रेट, रिएक्शन शेयर करने के लिए bhadas4media@gmail.com पर मेल करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *