इस तस्वीर को देख कर किसका खून नहीं खौलेगा

Sandhya Navodita : इस चित्र को देख कर किसका खून नहीं खौलेगा? यह असली भारत है. पता नहीं किस सभ्यता और संस्कृति की दुहाई देते हैं परम्परावादी..!! प्रेम करने की यह तालिबानी बर्बर सज़ा देखिये. ये हमलावर इसी देश के दिल कहे जाने वाले प्रदेश में रहते हैं. वही प्रदेश जिसे दिखा दिखा कर सरकार पर्यटकों को बुलाती है. तालिबान मध्य प्रदेश में भी बसते हैं. …

इन हरामखोर देशद्रोहियों, क़ानून की धज्जियां उड़ाने वाले प्रेम द्रोहियों की जम के कुटाई होनी चाहिए. तभी यह सुधरेंगे. मध्‍य प्रदेश के धार जिले में बलवारी पंचायत के खोकरिया गांव में मंगलवार तड़के वह हुआ, जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता। एक विवाहिता और उसके प्रेमी को सुबह पांच बजे गांव के कुछ लोग बयड़ीपुरा और बलवारी से पकड़कर लाए और गरबा पंडाल के बीच खंभे से बांध दिया। इसके बाद लोगों ने उन्हें बुरी तरह पीटा, सारे कपड़े फाड़ दिए और उनके आसपास नाचते रहे।

साढ़े 6 बजे दोनों के शरीर पर कालिख पोती और कमर के नीचे खाद की थैली बांधकर पूरी पंचायत (तीनों गांव खोकरिया, बलवारी और बयड़ीपुरा) में घुमाया। युवक से पूरे रास्ते थाली बजवाई गई। इस दौरान जब दोनों ने छोड़ देने की गुहार लगाते हुए जहां भी थोड़ा खड़ा होने कोशिश की तो उन्हें कीलों से गोदा गया। हमलावरों के साथ कुछ महिलाएं भी चल रही थीं।

संध्या नवोदिता के फेसबुक वॉल से.

Sandip Naik : कहाँ है मप्र में काम करने वाली सरकार और उनके अधिकारी और तमाम तरह के ढोल पीटने वाले एनजीओ और बड़े बड़े संस्थान… खूब बड़ी बड़ी दुकानें चला रहे हैं और काम कर रहे हैं महिला समानता और जेंडर पर. बड़े मीडिया हाउस भी हैं और एडवोकेसी की नौटंकी भी है… आईये स्वागत करें और आपका अभिनन्दन करें…..

संदीप नाइक के फेसबुक वॉल से.

Saroj Kumar :  तथाकथित सभ्य समाज की हैवानियत का नमूना है यह. दो प्रेमियों के साथ जिस तरह का अमानवीय, बर्बर और आपराधिक कृत्य किया गया वह शर्म से नजरें झुका देता है. उन्हें कालिख में पोत न केवल घुमाया गया बल्कि छोड़ने की गुहार करने पर कीलें चुभाई गईं….लेकिन इस तथाकथित सभ्य समाज को शर्म कहां आती है…तस्वीर देख कर ही खून खौल जाए…शर्मनाक है यह सब…

सरोज कुमार के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *