इस विज्ञापन को देखिए और मीडिया की नई परिभाषा को कुबूल करिए

Yashwant Singh : बड़े लोग मीडिया से पैसा बनाएंगे तो बेचारे छोटे भी तो इसी राह पर जाएंगे… बड़ों की डील नजर नहीं आती, हां, उसके रिपरकसन जरूर दिखते रहते हैं.. पर छोटों का डील तो खुलेआम होता है… जमाना जैसा इन्हें सिखा रहा है, वैसा ही ये कर रहे हैं.. इस विज्ञापन को देखिए और मीडिया की नई परिभाषा को कुबूल करिए…

भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से.


भड़ास से संपर्क bhadas4media@gmail.com के जरिए कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *