ईटीवी इतनी हिम्मत कर सकता है तो बाकी अखबार चुप क्यों रह जाते हैं?

Sanjay Sharma : यह सिर्फ यूपी में ही सकता है ..भ्रष्टाचार के आरोप में तीन साल की सजा पाए आईएएस राजीव कुमार को प्रमुख सचिव नियुक्ति के पद पर तैनात कर दिया जाता है ..आज हाईकोर्ट ने पीसीएस हरीशंकर पाण्डेय को इजाजत दे दी कि वह राजीव कुमार के स्टे को ख़ारिज करवाने के लिए अपील कर सकते है. पांडेय जी ने अपनी रिट में मेरी उस याचिका का हवाला दिया जो मैंने राजीव कुमार को नौकरी से वर्खास्त किये जाने के लिए दायर की थी जिस पर कोर्ट ने राज्य और केंद्र को नोटिस जारी किये थे.

आज इस खबर को ईटीवी लगातार दिखा रहा है ..अब कल मीडिया का खेल देखिएगा ..अमर उजाला और टाइम्स ऑफ़ इंडिया में तो यह खबर होना चहिये बाकी खुद को बड़ा अखबार कहने वालों के यहाँ या तो खबर होगी नहीं या फिर बहुत छोटी होगी. आखिर जब ईटीवी इतनी हिम्मत कर सकता है तो बाकी अखबार सरकार से या उनके अफसरों से इतना डरते क्यों है, या फिर आसानी से मैनेज हो जाते है ..कल के अखबार का इंतजार कीजिए…

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार संजय शर्मा के फेसबुक वॉल से.


संबंधित खबरें…

भ्रष्ट और दागी अफसरों पर इतने मेहरबान क्यों हैं सीएम अखिलेश यादव

पत्रकार संजय शर्मा ने यूपी सरकार को आइना दिखाया, नौकरशाही में हड़कंप

''अब संजय शर्मा भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी मुहिम को और धार देने में जुटे हैं''

यूपी में सिर्फ एक प्रदीप शुक्ला नहीं, ऐसे दर्जनों भ्रष्ट आईएएस हैं, नाम सब जानते हैं पर कौन डालेगा इन पर हाथ!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *