एयरपोर्ट से निकलने से पहले ही सन्‍मार्ग के मालिक विवेक गुप्‍ता का सपना सच हो चुका था

कोलकाता से प्रकाशित होने वाले अंग्रेजी अखबार टेलीग्राफ ने अपने गॉसिप कॉलम में एक दिलचस्‍प खबर प्रकाशित की है. 'ड्रीम कम्‍स ट्रू' शीर्षक से प्रकाशित इस खबर में बताया गया है कि किसी तरह से सन्‍मार्ग के मालिक विवेक गुप्‍ता बिल्‍कुल परी कहानी के सच होने की तरह राज्‍यसभा सांसद बन गए. गॉशिप के अनुसार विवेक गुप्‍ता को संसद देखने का बहुत शौक था. उन्‍होंने अपनी यह इच्‍छा तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुदीप बंधोपाध्‍याय से बताई.

सुदीप ने विवेक को दिल्‍ली बुलाया तथा आवश्‍यक कार्रवाई पूरी कराने के बाद उन्‍हें विजिटर्स गैलरी में बैठाया. दिल्‍ली घूमने के बाद विवेक गुप्‍ता फ्लाइट पकड़कर शाम को कोलकाता लौट आए, परन्‍तु एयरपोर्ट से बाहर निकलने से पहले ही उनकी जिंदगी बदल चुकी थी. ममता बनर्जी उन्‍हें राज्‍यसभा सांसद बनाने की घोषणा कर चुकी थी. नीचे द टेलीग्राफ में प्रकाशित खबर. 


Dream comes true

Vivek Gupta, the editor of Sanmarg — the Hindi daily that made the cut in Mamata Banerjee’s evaluation of the newspapers that can find a place in Bengal’s libraries — had always dreamt of visiting the Parliament. When he took charge of Sanmarg, Gupta informed the Trinamul Congress’s Sudip Bandopadhyay of his wish.

Bandopadhyay, the story goes, asked him to come to Delhi and made the necessary arrangements so that Gupta could sit in the visitors’ gallery. In the evening, he took a flight back to Calcutta, but even before he had emerged from the airport, his life had changed — he had been made a Rajya Sabha MP by Didi. Now that is what we call a fairy tale.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *