केंद्र में भाजपा की सरकार आई तो जागरण नहीं देगा मजीठिया!

खबर है कि दैनिक जागरण ने मजीठिया नहीं देने का मन बना लिया है.यह अखबार भी अपने इंप्लाइज को सिर्फ इनक्रीमेंट थमा कर चुप्पी साध लेगा. खबर ये भी है कि जागरण प्रबंधन ने शीर्ष स्तर पर मीटिंग करके तय किया है कि अगर 16 मई को बीजेपी की सरकार केंद्र में बनती है तो जागरण में किसी को भी मजीठिया नहीं दिया जाएगा. सुनने में आया है कि नोएडा में जो मशीन आपरेटर प्रोडक्शन में काम करते हैं उन्होंने बगावत कर दिया है. उनका कहना है कि मजीठिया मिलेगा तो काम करेंगे अन्यथा नहीं करेंगे.
 
जागरण की परंपरा रही है कि यहां जो भी बगावत करता है उसे बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता है. दैनिक जागरण इतना कमीना है कि आज भी जितने भी वेतन आयोग बने, उनकी रिपोर्ट इसने अपने यहां लागू नहीं की. लगता है मजीठिया का भी यही हाल करेंगे जागरण वाले. लेकिन इस बार मजीठिया का मसला सुप्रीम कोर्ट से जुड़ा है इसलिए अगर कोई जागरण कर्मी सुप्रीम कोर्ट चला गया तो इन्हें डंडा पड़ेगा और इन्हें सुब्रत राय की तरह अकल आएगी.
 
एक जागरणकर्मी द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित. 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *