खर्राटों से महाभारत : राष्‍ट्रीय सहारा के सीनियर ने रिपोर्टर को पीटा

राष्‍ट्रीय सहारा, पटना में बवाल मचा हुआ है. हालांकि मामला ऑफिस का नहीं बल्कि बाहर का है. खबर है कि खर्राटों से बौखलाए एनई-डीएनई लेबल के पत्रकार ने एक रिपोर्टर को बुरी तरह मारा-‍पीटा तथा घायल कर दिया. पीडि़त पत्रकार ने जब इस बात की शिकायत संपादक से की तो उन्‍होंने मामला अखबार एवं कार्यालय के बाहर होने की बात कहके पल्‍ला झाड़ लिया. हालांकि उन्‍होंने अपने वरिष्‍ठ सहयोगी को समझाने की बात जरूर कही.

बताया जा रहा है कि अखबार के वरिष्‍ठ सहयोगी तथा रिपोर्टर दोनों आसपास ही रहते हैं. मामला कुछ नहीं बस खर्राटे लेने का है. अखबार के वरिष्‍ठ सहयोगी रिपोर्टर के खर्राटे लेने से परेशान थे. कई बार अपशब्‍द कह चुके थे. बताया जा रहा है कि बुधवार की भोर में रिपोर्टर के खर्राटे लेने से नाराज होकर अचानक तीन बजे वे उठे और रिपोर्टर का दरवाजा पीटने लगे. अचानक दरवाजे पर खटखट सुनकर रिपोर्टर जग गया तथा दरवाजा खोला तो सामने से वरिष्‍ठ पत्रकार महोदय ने उसे गाली देते हुए एक लात मार दिया.

बताया जा रहा है कि इसके बाद भी वे उसके उपर लगातार कई हमले किए. रिपोर्टर की नाक फूट गई. उससे खून भी बहने लगा. उसके कपड़े खून से सन गए. धमकी देने के बाद वरिष्‍ठ पत्रकार महोदय अपने कमरे में चले गए. इस घटना से हतप्रभ रिपोर्टर किसी तरह अपना खून साफ किया. इसके बाद वो अपने समय से ऑफिस पहुंचा तथा संपादक महोदय को पूरे मामले की जानकारी दी. संपादक ने कहा कि यह मामला अखबार या उसके कार्यालय से जुड़ा हुआ नहीं है, लिहाजा वे इस मामले में कोई अनुशासनात्‍मक या किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं कर सकते. हां वे अपने वरिष्‍ठ सहयोगी को समझा जरूर देंगे.

बताया जा रहा है उक्‍त वरिष्‍ठ सहयोगी बड़े दबंग किस्‍म के हैं. पूरा कार्यालय उनके क्रोध से डरता रहता है. इससे पहले भी उनके कई किस्‍से सामने आ चुके हैं. खबर है कि रिपोर्टर ने थ्रू चैनल अपनी बात सभी वरिष्‍ठों तक पहुंचा दी है. अगर उधर से कोई कार्रवाई नहीं हुई वो पुलिस में भी मामला दर्ज करने की तैयारी कर रहा है. रिपोर्टर हाईकोर्ट की रिपोर्टिंग करता है, लिहाजा अधिवक्‍ताओं से भी इस मामले में सलाह ले रहा है. राष्‍ट्रीय सहारा, पटना में ऊपर से लेकर नीचे तक इस मामले को लेकर चर्चा जारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *