गिरफ्तार होंगे सुब्रत रॉय, गैर-जमानती वारंट जारी

सहारा ग्रुप के प्रमुख सुब्रत रॉय सहारा किसी भी वक्त गिरफ्तार हो सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी किया है। मामला निवेशकों के पैसे लौटाने में आनाकानी का है। आज सहारा की ग्रुप कंपनियों के 3 डायरेक्टरों के साथ उन्हें भी सुप्रीम कोर्ट में हाजिर होना था लेकिन वो नहीं पहुंचे। इसके बाद ही सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय सहारा के खिलाफ ये कठोर फैसला लिया है। हम आपको बता दें कि डिबेंचर के जरिए सहारा ने 24,000 करोड़ रुपए जुटाए थे। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सहारा ने अभी तक सेबी के पास करीब 5,000 करोड़ रुपये ही जमा कराए हैं। इस मामले में सहारा ने काफी आनाकानी है और अब मामला सुब्रत रॉय की गिरफ्तारी तक पहुंच चुका है।

सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय सहारा को 4 मार्च तक पेश होने को कहा है। गैर-जमानती वारंट के तहत पुलिस सुब्रत रॉय सहारा को गिरफ्तार करेगी। पुलिस सुब्रत रॉय सहारा को 4 मार्च को सुप्रीम कोर्ट में पेश करेगी। सेबी-सहारा मामले में अगली सुनवाई अब 4 मार्च को होगी। हालांकि कानून के कुछ जानकारों के मुताबिक अब सुब्रत रॉय सहारा को जमानत नहीं मिल पाएगी। वहीं सुब्रत रॉय के वकील ने अदालत के सामने दलील दी है कि उनके मुवक्किल के मां की तबीयत बहुत खराब है और उनका अपनी मां के पास रहना जरूरी है।

वरिष्ठ वकील एच पी रनीना का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट का ऑर्डर उम्मीद के मुताबिक आया है। अब सुब्रत रॉय सहारा की किसी भी वक्त गिरफ्तारी हो सकती है। संभव है कि 4 मार्च तक सुब्रत रॉय सहारा को जेल में रहना पड़े। 4 मार्च की पेशी के बाद ही सुब्रत रॉय सहारा गैर-जमानती वारंट के खिलाफ अपील कर सकते हैं। एचपी रनीना के मुताबिक सुब्रत रॉय सहारा के पास अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ कोई न्यायिक विकल्प नहीं है। सुप्रीम कोर्ट की ओर से सुब्रत रॉय सहारा की निजी संपत्तियों को भी सील किया जा सकता है।

वहीं सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील माजिद मेमन का कहना है कि सुब्रत रॉय हिरासत में लिए जाएंगे और 4 मार्च तक उन्हें हिरासत में रखा जाएगा। लेकिन सुब्रत रॉय के वकील उन्हें 4 मार्च से पहले कोर्ट ले जाए और वारंट रद्द करने की अपील कर सकते हैं। वकील को खुद कोर्ट में वारंट पर 4 मार्च तक रोक लगाने की अर्जी देनी होगी। साथ ही 4 मार्च को सुब्रत रॉय को खुद बिना बुलाए आने का भरोसा देना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *