चैनल मालिक अरूप चटर्जी के खिलाफ कुर्की जब्ती प्रक्रिया शुरू करने के आदेश

Gunjan Sinha : मेरे द्वारा दायर चेक बाउंस केस में आरोपी न्यूज़11 के मालिक अरूप चटर्जी के लगातार गैर हाज़िर रहने और गैर जमानती वारंट के बावजूद गिरफ्तार करके पेश नहीं किये जाने पर रांची की एक अदालत ने एक फरवरी को श्री चटर्जी के खिलाफ Cr P C की धारा 82 के तहत कुर्की जब्ती की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश जारी किया है। मामले की अगली सुनवाई ४ अप्रैल को है। श्री चटर्जी रांची पुलिस को मिल नहीं रहे हैं। किसी को मालूम हो तो रांची के एस एस पी को बताएं कि वे कहाँ हैं।

    Chandra Bhushan Solanki Mangal tower news 11 ranchi ka office to roj aata hai aarup..
 
    Sudhir Kr Sir ek cheque mera v bounce kiya hai…. Wo salary cheque hai company wala de nhi rha hai kya kru
 
    Asit Nath Tiwari रांची पुलिस से ज्यादा उनके बारे कौन जानता है सर…
   
    Chandra Bhushan Solanki Aarup ke khilaf kolkatta se chandigarh tak m 100 case pending hai…ye lat ka bhoot hai bat se nahi sunega..
     
    Ratan Tirkey Jaldi ho
 
    Prakash Chandra sir aap media ke liye bahut kaam kiye hai ab aap ko mediakarmi ke liye kaam karna chahiye mediakarmi ka bahut shoshan ho raha hai… plz aap kuch sochiye….baithiye nahi….
    
    Shachindra Jha NEWS 11 ka maalik chor …?
     
    Ajay Kumar न्यायपालिका की अवहेलना क्यूँ और कैसे हो रही है
     
    Sudhir Kr @prakash chandra Journalist ka shoshan nhi koi kr sakta walki journalist khud shoshan karwate hai
    
    Sudhir Kr Aur waise v Prakash Chandra jee aap jinhe bol rhe hai kuchh krne ke liye be v kuchh ukhar nhi sakte……!!!!!!! Sorry is trh ke shawd istemal krne ke liye lekin ye sachh hai……..!!!!!
     
    Amarnath Prasad Arup chatterjee kab tak bhagega ……ab usake antim din aa gaye hai …main dua karta hoon .zaldi usake karmoin ki saza mile ..
     
    Sanjay Jha dalal kavhe police ko nahi milte hai chatarjeeya ko khogna hoga police media ke nam se darte hai police vhe choor hai
     
    Rahul Deo Solanki SIR MAPHIYA KO KHOJNA MUSHKIL TO HOTA HAI PAR POLICE CHAH LE TO BIL SE NIKAL LEGI
     
    Gunjan Sinha सुधीर जी, आपसे कभी परिचय / मुलाकात हुई हो ऐसा याद नहीं आता, फिर इतना गुस्सा आपने कहाँ से जमा कर लिया ? आपने सॉरी कह कर अपने शब्द और समझ सीमा पर खुद ही माफ़ी मांग ली है तो उसपे कुछ नहीं कहूंगा और न पत्रकारों के लिए कुछ कर पाने या न कर पाने का दावा करूँगा लेकिन इतना ज़रूर कहूँगा कि हक़ के लिए मुझसे जो बन पड़ा उतना लड़ा हूँ और आगे भी लड़ूंगा। बाकी आप जैसे भविष्यवक्ता जानें।
     
    Sudhir Kr Sir waisi ladai kis kam ki jisse dusro ko aajtak koi faida hi na hua ho…… Aur rhi aaple ladne ki to….. Aapne lda apne liye…. Aur apno ke liye….. Shoshit patrakaro ke liye lad rhe hote to….. Aapke sawd itne kamjor nhi hote……. Jitne news 11 wale ke liye hai
 
    Gunjan Sinha सुधीर जी, मेरे पास अपनी विरुदावली सुनाने लायक कुछ नहीं है लेकिन शर्मिंदा होने लायक भी शायद बहुत नहीं है।See Translation
 
    Sanjay Jha gunjan bhaiya kaya karna hai batayiya faisala ho jayaga
   
    Sanjay Jha jo lato ke bhoot hote hai wae bato se nahi mante hai yeh jeeban darsan hai
    
    Sudhir Kr Sir kahane ke liye to bahut kuchh hai lekin aapko kuchh v kahane ke liye mere pass ek v sawd nhi mil pa rha hai……. Kyun ki agar ek patthar bich sadak pr pda pda logo se ye kh rha ki mujhhe side kr do to koi nhi uski madad karega………lekin agar us patthar ki wajah se kisi ko thokar lag jaye to…. Use uthakar turant wo aadmi side kr deta hai…… Aisa kyu……. Ye puri kahani Gunjan Sinha sir aapke reply pr hai….. Aap samajhe aur btaye ki main sahi hun ya galat………??????
 
    Sanjay Jha kahani se jeevan nahi chalta hai bhaiye
 
    Sudhir Kr Lekin jindagi pr kahani likhi ja sakti hai
   
    Ashutosh Kumar Pandey सुधीर कुमार जी………हो सकता है आप मीडिया..इसमें होनेवाले शोषण,स्पाईनल बोन में गुदगुदी…साईकोफंटगिरी के बारे में ज्यादा जानते हो। लेकिन शायद आप गुंजर सर के फ्रेंड लिस्ट में होने के बाद भी आप उन्हें जानते नहीं हैं। जिस मीडिया में आप दूसरों के फायदे वाले काम नहीं होने का रोना रो रहे हैं। आप पता लगा लिजिए…मैं दावे के साथ कहता हूं…..टीवी पत्रकारिता में संवेदना,गरीबी,मजलूमों की लड़ाई,उनकी बात,उनका दर्द सिर्फ गुंजन सर के जमाने में ही क्षेत्रिए टीवी पत्रकारिता में दिखा। आज वह किसी पोस्ट पर न होते हुए भी…..अमूल्य धरोहर हैं…यह शुक्र मनाईए कि फेसबुक के जरिए आपने लिखा तो बहुत कुछ लेकिन बीना जाने……….आपका उत्तर भी सर ने दिया है….उसे दो तीन बार पढ़ लिजिएगा तो उनकी सादगी,सच्चाई और पत्रकारिता के प्रति संवेदना का अंदाजा आपको हो जाएगा। आप जिन जगहों पर उबकाई करने नहीं जा सकते वहां वह बीना चप्पल के जाकर स्टोरी करके लाते थे….कीचड़,आंधी,पानी….जबकि वे चाहते तो उनके एक फोन पर दरभंगा के कुश्सेशवर स्थान से स्टोरी आ जाती…..दूसरी बात……उन्होंने टीवी पत्रकारिता में बहुत ऐसे लोगों को रचा है जो आज भी एक सीमा तक ही किसी को बरदास्त कर पाते हैं……….यह उनकी ही देन है कि कई लोग सिर्फ किसी के बोलने का अंदाज सही नहीं था इसलिए नौकरी छोड़ दी……..हो सकता है आप मुझसे ज्यादा जानते हो………..लेकिन फलदार वृक्ष ऐसा झुक जाता है…जिसका फल कोई बच्चा भी आराम से तोड़ ले……..जिसपर फल ही नही…..उसकी सुखी लकड़िया कई घरों का अलावा तो बन सकती हैं……….अनाज और रोटी नहीं…..क्योंकि लकड़ियों आग पैदा होगी……और उस आग पर पकने वाली रोटी तैयार करने का माद्दा टीवी की दुनियां में गुंजन सर के पास है……….सदैव रहेगा……..रहा सवाल उस अरूप/कुरूप के चेक का……..तो सर पैसे के लिए……..वैसे लोगों और सिस्टम के लिए लड़ रहे हैं…………।

    Upendra Chandan मै आशुतोष जी से सहमत हु
 
    Sudhir Kr Sir main do bat kahna chahunga…… 1>> sayad aapne gunjan sir ke post pr. Kiye gaye sare comment ko nhi padha hai agar aapne padha hota to sayad merry dwara likhi gai kahani ka matlab samajh jate……. bat rhi ladne ki to uska faida sirf unhe hi mila….. Aur unke apno ko…… Agar har kisi k liye ladte to ….!!!! Aap khud samaj sakte….. Ki kyu aaj patrakaro se jyada ptrakarita shoshit hai…….!!!!!!!

    Vishad Kumar Face book Par Mil Jayenge

    Anup Sinha SIR SAMAN TAMIL KAWAIEYA … TABHI 82 KURKITAMIL HOGA FIR 83 SKONDAL HOGA …. FIR  
 
    Rajesh Krishna Pryatne dhirah griiyan langhantiih.
 
    Sudhir Kr Upendra Chandan jee aap kisi se sahamat ho jo sachchhai maine kaha…… Sach kadwa hota hi hai…..
   
    Prabal Mahto Ranchi Police sharif police hai… criminals se unka kya wasta… arip chatarjee ko to koi criminal hi dhundh sakta hai.. aapki badnasibi aapke dost bhi sharif hain…
     
    Prem Kumar Friends of Gunjan sir. Ye cheque Ki ladai pratikatmak hai. Ek patrakar se malik bane arup ka kurup chehara dikhane ka sangharsh hai. Jit sangharsh ki hogi Shubhkamna nahi pura samarthan hai.
     
    Ved Prakash mujhe pata hai sir…
     
    Upendra Chaudhary पिछले एक दशक में ज़्यादातर ऐसे ही अतार्किक चेहरे पत्रकारिता के लिए तर्क और शर्त गढ़ते रहे हैं.कंटेन्टलेस से ओत-प्रोत ये चेहरे कंटेन्ट लिखवाते पढ़वाते रहे हैं, संपादकीय प्रबंधन क्षमता से दूर का रिश्ता नहीं होने के बावजूद ये प्रबंधक कहलाते रहे हैं,प्रशासनिक क्षमता के नाम पर उनकी भाषा गालियों से शुरू होती है और अश्लीलता पर ख़त्म होती है,मगर लगातार आतंक में पसरी फैली होती है. बड़े अजीब 'चेहरे' वाले इन भस्मासुरों को जाति-धर्म और क्षेत्र के नाम पर किसी न किसी बड़ी पत्रकारिता वाले 'शंकर' का वरदान-अभयदान मिलता रहा है.आख़िरकार भस्मासुरी का शिकार तो सबको होना है,चाहे 'शंकर' हों या उनके 'गणेश' या फिर पत्रकारिता के 'दरवेश'.
     
    Ved Prakash Upendra Chaudhary सर जी… न आपकी भाषा बदली है, न आपकी शैली… उम्मीद है आप भी वैसे होंगे (mast n bindas), जैसा मुझसे आखिरी मुलाकात के वक्त तकरीबन 5 या 6 साल पहले थे…
   
    Mukesh Chaudhary midia gharano n patrakaro k sath sirf anyay hi kiya hai
 
    Arun Tiwari 25 ko dhanbad aayega. khabar pakki hai.

वरिष्ठ पत्रकार गुंजन सिन्हा के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *