छत्‍तीसगढ़ में नक्‍सली हमला, कांग्रेसी नेता महेंद्र कर्मा, उदय मुदलियार समेत कई की मौत, वीसी शुक्‍ला घायल

रायपुर : नक्सलियों ने शनिवार को एक बड़े हमले को अंजाम देते हुए छत्तीसगढ़ के जगदलपुर जिले में कांग्रेस नेताओं के काफिले पर हमला कर दिया जिससे पार्टी के वरिष्ठ नेता महेंद्र कर्मा की मृत्यु हो गई जबकि पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्या चरण शुक्ल गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि नक्सलियों ने जगदलपुर जिले में दरबा घाटी में कांग्रेस नेताओं पर हमला करने के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नंद कुमार पटेल और उनके बेटे का अपहरण भी कर लिया।

पूर्व कांग्रेसी विधायक उदय मुदलियार की भी नक्सलियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। नक्सलियों ने काफिले पर शाम साढ़े पांच बजे के करीब हमला किया जब ये नेता ‘परिवर्तन’ रैली से लौट रहे थे। छत्तीसगढ़ के पूर्व गृह मंत्री कर्मा तब मारे गए जब बड़ी संख्या में नक्सलियों ने रैली पर गोलीबारी की। ‘सलवा जुडूम’ (सतर्कता समूह द्वारा चलाया गया नक्सल विरोधी अभियान) के पीछे कर्मा की महत्वपूर्ण भूमिका थी।

गोलीबारी से पहले एक धमाका हुआ। शुक्ला कथित तौर पर दरबा घाटी थाने में हैं और उन्हें आए जख्म का फिलहाल पता नहीं चल सका है। नक्सलियों हमला राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 202 के निकट घने जंगलों में हुआ। यह राजमार्ग छत्तीसगढ़ को पड़ोसी आंध्र प्रदेश के भद्रचलम जिले से जोड़ता है। चश्मदीदों के अनुसार करीब 1000 नक्सलियों ने एक साथ काफिले पर हमला किया। इस हमले में कई जवान भी शहीद हुए हैं। यह हमला दरबा घाटी के समीप हुआ।

विपक्षी कांग्रेस ने 12 अप्रैल को परिवर्तन यात्रा शुरू की थी। राज्य में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। यात्रा में पार्टी के कई वरिष्ठ नेता शामिल थे। छत्तीसगढ़ कांग्रेस मीडिया प्रकोष्ठ के अध्यक्ष शैलेश त्रिवेदी ने कहा कि यह जांच का विषय है कि क्या हमले में नक्सली शामिल थे। उन्होंने आरोप लगाया कि नक्सलियों के विरोध के बावजूद प्रदेश की भाजपा सरकार ने कांग्रेस की यात्रा के लिए पर्याप्त सुरक्षा प्रदान नहीं की।

उन्होंने कहा, ‘नक्सलियों ने भाजपा की ‘विकास यात्रा’ और कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा का विरोध किया है। हालांकि, राज्य सरकार ने सिर्फ भाजपा की यात्रा के लिए सुरक्षा प्रदान की और कांग्रेस की यात्रा को सुरक्षा नहीं प्रदान की। अगर सुरक्षा मुहैया कराई गई होती तो आज की घटना नहीं होती।’ इस घटना के बाद राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने आपात बैठक बुलाई है। कांग्रेस विधायक कवासी लकमा के सिर में गोली लगने की खबर है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मौके पर पुलिस के बड़े अफसरों और अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों को रवाना कर दिया गया है।

एडीजी छत्तीसगढ़ ने ज़ी मीडिया से खास बातचीत में बताया कि कांग्रेस नेताओं के काफिले पर नक्सली हमला हुआ है लेकिन इस हमले में कितने लोग घायल हुए हैं उसके बारे में वह कुछ भी नहीं कह सकते। उन्होंने कहा कि नेताओं पर हमले की सूचना मिली है जिसकी जांच की जा रही है। नक्सलियों के इस हमले के बाद भारतीय जनता पार्टी ने अपनी विकास यात्रा रोक दी है।

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कहा कि नक्सिलयों ने परिवर्तन यात्रा को निशाना बनाने की धमकी दी थी। यह सरकार की असफलता है। जोगी ने राज्य सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है। महेंद्र कर्मा 1989 से ही नक्सलियों के खिलाफ अभियान चला रहे थे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस नक्सली हमले की निंदा की है। सोनिया और राहुल गांधी प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिलने जाएंगे । इस बीच प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री रमन सिंह से बात की है और उनसे वहां सुरक्षाकर्मियों की जरूरत के बारे में पूछा है। कांग्रेसी नेता मोती लाल वोरा भी प्रधानमंत्री से मिलने पहुंचे। (जी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *