जांच समिति मुझ पर ही संदेह कर रही है : लॉ इंटर्न

सुप्रीम कोर्ट के हाल ही में रिटायर न्यायाधीश पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लॉ इंटर्न ने कहा है कि मामले की जांच समिति की बैठक में मुझे ही संदेह की नजरों से देखा जा रहा है. उसे बार-बार यह विश्वास दिलाना पड़ा कि वह झूठ नहीं बोल रही, कहानी नहीं गढ़ रही. उसने कहा कि इससे वह बहुत अपमानित महसूस कर रही है.
 
पीड़िता के वाल स्ट्रीट जनरल को दिये इंटरव्यू को लीगली इंडिया वेबसाइट ने छापा है. इस इंटरव्यू में पीड़िता ने कहा है कि उसने इतने दिनों तक इस मामले में कुछ नहीं कहा क्यूंकि उसे लगता है कि भारतीय कानून इतने संवेदनशील नहीं हैं कि महिलाओं के खिलाफ अपराधों से निपट सकें. उसने कहा कि उसे ये समझने और अपने आपको इस स्थिति में तैयार करने में वक्त लगा. मैने उसी वक्त सोचा था पर मैने सोचा कि कहीं इतने बड़े आदमी के खिलाफ बोलना मेरे लिए बुरा ना हो जाए.
 
पीड़िता ने कहा कि उसे डर था कि क्या एक लॉ स्टूडेंट का इतने बड़े और अब तक बेदाग रहे आदमी के खिलाफ जीत पाएगी और आज भी लग रहा है. मुझे जांच समिति के सामने संदेह की नजरों से देखा जा रहा है. मुझे ये भी लगता था कि इस मामले में मुझे अदालत में वर्षों लग जायेंगे. जब पहली बार मैने अपने परिवार को बताया तो उन्होंने भी मुझे इसे भूल जाने को ही कहा. इन सब वजहों से ही मैने इस मामले को इतने दिनों तक नहीं उठाया.
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *