झारखंड में पत्रकारों पर पुलिस ने भांजी लाठियां

गढ़वा : थाना परिसर में घटना को कवर करने गये मीडिया कर्मियों की पुलिस ने जमकर पिटाई कर दी. पुलिस की इस बर्बरतापूर्ण कार्रवाई में पत्रकार चंदन कुमार, धर्मेन्द्र कुमार, लव कुमार, अभिमन्यु, प्रताप आदि को गंभीर चोटें आईं. घटना से गुस्साए पत्रकार पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर अड़ गए. एसडीपीओ हीरालाल रवि ने पत्रकारों के साथ वार्ता कर मामला सुलझाने की कोशिश की लेकिन बात बनी नहीं.
 
बुधवार दोपहर को सदर थाना में वनांचल डेंटल कॉलेज के 35-40 छात्र कॉलेज प्रबंधन के विरुद्ध छात्रों को मिलने वाली राशि के गबन के मामले की शिकायत लेकर पहुंचे थे. इस पर वहां मौजूद कुछ पत्रकारों ने इन छात्रों की जब तस्वीर लेनी चाही तो छात्र पत्रकारों पर भड़क उठे और पत्रकारों को धमकाने लगे. इसी बीच कुछ छात्रों ने पत्रकार लव कुमार का कैमरा छानकर मेमोरी कार्ड निकाल लिया और उनका नोट पैड भी फाड़ डाला. 
 
छात्रों के द्वारा किए गए इस अभद्र व्यवहार की सूचना दूसरे पत्रकारों को मिलते ही जिला मुख्यालय के और भी पत्रकार थाना परिसर पहुंच गए. पत्रकारों ने इसकी शिकायत थानाध्यक्ष से की तथा उनसे मामले में कार्रवाई करने को कहा. इसी बीच थानाध्यक्ष और पत्रकारों में नोकझोंक शुरू हो गई. बस इतने में थानाध्यक्ष ने पत्रकारों को पीटने का आदेश दे दिया और थाना परिसर में मौजूद पुलिस कर्मियों ने पत्रकारों को दौड़ा-2 कर पीटना शुरू कर दिया.
 
पुलिस द्वारा पत्रकारों की पिटाई की विभिन्न पार्टियों और संगठनों ने भर्त्सना की है. निंदा करने वालों में भाजपा नेता अलख नाथ पांडेय, कांग्रेस के अलख निरंजन चौबे, पूर्व जिप अध्यक्ष सह माले नेत्री सुषमा मेहता, अभाविप के मुन्ना कुमार, रितेश चौबे, झाविमो के रिंकू तिवारी, झामुमो नेता मिथलेश कुमार ठाकुर, परेश तिवारी आदि शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *