टीवी शो के दौरान सोमनाथ भारती की हुई पिटाई, सीएनएन-आईबीएन वालों ने बचाया

वाराणसी में भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी के बीच का चुनावी घमासान हिंसा में बदलता दिख रहा है। आज एक टीवी कार्यक्रम में आप नेता सोमनाथ भारती पर हमला बोल दिया गया और जमकर उनकी पिटाई की गई। आरोप लगा है बीजेपी कार्यकर्ताओं पर। सोमनाथ अस्सी घाट पर टीवी शो में शामिल होने आए थे। यहीं पर कुछ लोगों ने शो के दौरान ही सोमनाथ की जमकर पिटाई कर दी। उनकी कार पर भी हमला किया गया और शीशे चकनाचूर कर दिए गए। साथ उनके ड्राइवर की भी पिटाई की गई।

उधर, सोमनाथ ने इस मामले में मामला दर्ज कराने से इनकार कर दिया है। सोमनाथ ने कहा कि जो भी हुआ उससे में हिल गया हूं। मुझे बचाने के लिए सीएनएन-आईबीएन का शुक्रिया। अगर मुझे न बचाया होता तो मेरी मौत भी हो सकती थी। मैंने कोई एफआईआर नहीं दर्ज कराई है क्योंकि हमारी नीति माफ करने की है। वाराणसी में नरेंद्र मोदी बीजेपी उम्मीदवार हैं और उन्हें आप संयोजक अरविंद केजरीवाल चुनौती दे रहे हैं। इसे लेकर दोनों दलों के बीच तल्खी का दौर चल रहा है।

बताते हैं कि भारती को बचाने में स्थानीय लोगों और कुछ पत्रकारों को भी चोटें आई हैं। भेलूपुर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उपद्रवियों को खदेड़ा और सोमनाथ भारती को सुरक्षित निकाला। आप नेता ने भेलूपुर थाने पर पहुंच गए थे मगर संयोजक अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर उन्होंने प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई।

अस्सी घाट पर बुधवार की शाम एक टीवी चैनल का टॉक शो चल रहा था। घाट पर भाजपा और आप समर्थकों की भीड़ लगी हुई थी। आप नेता सोमनाथ भारती ने बताया कि टॉक शो के दौरान भाजपा समर्थक ‘मोदी-मोदी’ के नारे लगा रहे थे। जवाब में आप कार्यकर्ताओं ने भी ‘अभी तो शीला हारी है, अब मोदी की बारी है’ का नारा लगाया। इस पर भाजपा समर्थक बिफर पड़े और आप समर्थकों पर हमला बोल दिया। सोमनाथ भारती बीचबचाव करने गए तो उनपर भी हमला बोल दिया गया।

सोमनाथ के मुताबिक, भीड़ से बचने के लिए वह सीढ़ियों की तरफ भागे तो गिर पड़े। पीछे से आए उपद्रवियों ने उनपर लात-घूसों से हमला कर दिया। स्थानीय लोगों और पत्रकारों ने बीचबचाव किया और सोमनाथ भारती को भीड़ से बाहर निकाला। अस्सी घाट पर मौजूद अमित कुमार गुप्ता की टैक्सी में सोमनाथ ने शरण ली तो गुस्साए उपद्रवियों ने कार पर पथराव कर इसे क्षतिग्रस्त कर दिया।

सूचना पाकर इंस्पेक्टर भेलूपुर वीके सिंह मौके पर पहुंच गए। पुलिस फोर्स देखते ही हंगामा कर रहे लोग तितर-बितर हो गए। पुलिस ने सोमनाथ भारती को वहां से निकाला और थाने ले आई। थाने पर मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी चल रही थी कि पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सोमनाथ भारती को मना कर दिया। केजरीवाल ने कहाकि वह मुकदमा दर्ज कराने के पक्ष में नहीं हैं। हमला करने वाले भटके हुए बच्चे हैं। उन्हें अपनी गलती का खुद ही अहसास हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *