डा. भाजपा कुमार विश्वास

Dr. Kumar Vishwas : आप उनसे सहमत या असहमत हो सकते थे ,तटस्थ नहीं ,और यही उनकी शक्ति थी! एक लम्बे समय तक अपने स्वधर्म पर अविचल दृढ रहे अप्रतिम-योद्धा "बाला साहिब ठाकरे" को हार्दिक प्रणाम ! सब से बड़ा शिवसैनिक "शिव" के चरणों में जगह पाए और उनके सभी समर्थकों को इस आघात से उबरने की शक्ति मिले ऐसी प्रभु से कामना है !

Dr. Kumar Vishwas : क्या हम इतने असहिष्णु हो गए हैं कि किसी के मरने पर भी उसे गाली दे सकते हैं? शायद ये भारत, भारतीयता और हिंदुत्व तो नहीं सिखाता! कम से कम मेरा हिन्दुत्व और भारत तो मुझे ये नहीं सिखाता! रावण के धराशायी होने पर मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम भी उन्हें प्रणाम करने गए थे और अनुज लक्ष्मण से कहा था कि इन से "राजनीती" सीखो! उम्मीद है आप सब भी भारतीय हैं!


उपरोक्त दोनों स्टेटस डा. कुमार विश्वास ने अपने फेसबुक वॉल पर खुद प्रकाशित किया है. उनके इस नजरिए को उनके ढेर सारे चाहने वाले पचा नहीं पा रहे हैं. और, फासिस्ट विचारधारा के खिलाफ आ रही टिप्पणियों को खुद डा. कुमार विश्वास नहीं पचा पा रहे हैं. तभी वे लगातार विरोधी टिप्पणियों को देखने के बाद एक जगह ये कमेंट करते हैं…

Dr. Kumar Vishwas : जो मित्र दिवंगत आत्मा के प्रति भी सम्मान की शालीनता न जानते हों वो कृपया टिप्पणी न ही करें तो उचित होगा ! ॐ शांति ॐ


उनकी इस शांति अपील का कोई खास असर नहीं हुआ. लोगों ने डा. कुमार विश्वास को अपना पक्ष दृढतापूर्वक समझाना जारी रखा…  उनके एक चाहने वाले Anant Vaibhav Singh Yadav टिप्पणी करते हैं-

''विश्वाश जी आप कह रहे कि मृत्यु के बाद आलोचना मत करो… खुश मत हो पर… जरा उनका सोचिये जिनके धंधे को ठाकरे ने तोड़ दिया… जिनको सब कुछ छोड़ के भागना पड़ा… जिनकी रोजी रोटी चली गयी… जो बम्बई से भगा दिए गये… उनका कुसूर क्या था… बस ये कि वो मराठी नहीं थे… ठाकरे की मौत की खबर सुन कर वो खुश क्यों न होवे… उनके लिए ठाकरे किसी गुंडा से कम नहीं थे… बम्बई ठाकरे के बाप की नहीं थी पर बेचारों को अपना सब कुछ छोड़ के भागना पड़ा… जो ख़ुशी उन्हें आज मिली होगी वो उनके जख्म पर एक ठंडक की तरह होगी…''

Bal Krishnan लिखते हैं- ''कुमार विश्वास जी, मरने से मनुष्य की प्रकृति बदल नहीं जाती है, इतिहास का निष्पक्ष विश्लेषण अनिवार्य है! गाली किसी को नहीं देनी चाहिए, जीवित या मृत होना महत्वपूर्ण नहीं है।''

ये तो सिर्फ दो टिप्पणियां हैं… सैकड़ों टिप्पणियां कुमार विश्वास के खिलाफ हैं.  टीम केजरीवाल का प्रशंसक एक युवा अपनी पीड़ा डा. कुमार विश्वास के सामने इन शब्दों में रखता है…

Mohd Naeem : IAC ek toofan h….sir jo aadmi aapas me ldane ki baat karta ho…aap use kaise support kar sakte ho….is liye ke aap bhi ek marathi ho..aur us se Darrte ho….aur agar politics ka hissa h.to chalega


ऐसी सैकड़ों टिप्पणियां हैं. डा. कुमार विश्वास के ज्ञान का स्तर और उनकी असली विचारधारा सामने आने के बाद उनके ढेर सारे प्रशंसक उन्हें गरिया रहे हैं, विरोध कर रहे हैं… कुमार विश्वास के ही फेसबुक वाल से कुछ टिप्पणियों को यहां प्रकाशित किया जा रहा है, ध्यान रखिए, ये जो टिप्पणियां हैं, सैकड़ों में से सिर्फ कुछ हैं… जो सिर्फ प्रतीकात्मक हैं…. बाकी पढ़ने के लिए आप खुद कुमार विश्वास के फेसबुक एकाउंट पर जा सकते हैं… कुछ चुनिंदा टिप्पणियां इस प्रकार हैं….

Sanjay Pandey : Dr. Kumar Vishwas – why don't you ask this question to those Indians from the southern and northern part of the country who were beaten up by goons of Thackeray. Sorry, my religion teaches me to speak truth and hence I say, "good riddance". By the way, below are the words of Indians of North of his own party. "On March 27, 2008, in protest against Thackeray's editorial, leaders of Shiv Sena in Delhi resigned, citing its "outrageous conduct" towards non-Marathis in Maharashtra and announced that they would form a separate party.[43] Addressing a press conference, Shiv Sena's North India chief Jai Bhagwan Goyal said the decision to leave the party was taken because of the "partial attitude" of the party high command towards Maharashtrians. "Shiv Sena is no different from Khalistan and Jammu and Kashmir militant groups which are trying to create a rift between people along regional lines. The main aim of these forces is to split our country. Like the Maharashtra Navnirman Sena, the Shiv Sena too has demeaned North Indians and treated them inhumanely."

Aditya Kumar Jha : Ghanta hindu leader -jin uttarbhartiyon ke viruddh tha woh kya bc Isaayi the ? Mi Ki choot saale ki …mara -achcha hua …ab in gaandu Raj aur Uddhav ko bhi jaldi tehel lena chahiye

Sudhir Ojha : kumar sahab aapka bhi agenda hindutv hai achchh hua party banane se pahle hi bata dia tabhi to log kahte the teem anna rss ki tukadi hai…

Püñįt Čhøüdhåry : tum bs kavita likho faltu ki bato pr dhayan mat do…

Raj Kamal : ओह … संस्कार की बात कर रहे हैं ?? और इस बारे मैं क्या कहेंगे आप जब आपने अपने ही देवताओं को को लास्ट इयर बेंगलोर मैं ब्रह्मा विष्णु महेश के ऊपर भरी सभा मैं टिप्पड़ी की थी ???
ब्रह्मा विष्णु महेश ऐसे बैठे है जैसे बिना पोर्टफोलियो का फेस एक शिव है जो जाकर बैठ गया हिमालय पे और एक बैठ गया सुमुंदर मैं जहा दूर दूर तक कोई नहीं दीखता और पीने का पानी भी नहीं। शिव को हिमालय पर बिठा दिया और देखो कपडे भी नहीं दिए अगले को एक ही पोजीशन पर बैठा हुआ है ठण्ड मैं उसको कपडे नहीं ऊपर से गंगा और निकल दी उसके सर मैं से और बोले ले मर ठण्ड मैं और गले मैं संप और दाल दिया अब बताओ ऐसा फसा हुआ आदमी तांडव नहीं करेगा तो क्या डिस्को करेगा । । विडियो की लिंक भी साथ मैं है : http://www.youtube.com/watch?v=3sREbPFR6g8

PanĐya VaißhAv : Aap abhi thodi der pehle unke aatma ki shanti ke liye prathna kar rahe the aur abhi unke khilaf bol raheho pure neta ho gaye ho vo jese bhi the unhone jo kaha "samne" kaha aap ki tarah nahi…..abhi tak me aapki bhot ijjat karta tha lekin sayad ab nahi…

Rahul Kothawade : kumar vishwas ji jin chijo ki kam samajh ho un chijo me kam bolana chahiye.

Sangeeta Shelly Seth : ab ky bolu mai, aap jara mumbai ki haalat dekho, garibo ki dukan maar maar ke band karwa rahe hai ye sab.. achha lagta hai kya?  kisi ke marne se, koyi garib ka chula nahi jalta hai, aap ky bologe??

Akhilesh Tiwari : pr hm Bhagwan Sri Ram nhi hi… ha ye thakre jarur ravan tha …garib north indian ko sadak pr dora dora kr apne gundo se pitwaya…uper se usko justify bhi krne ki behuda kosis ki….mi bahut khus hu or Bhagwan se dua krta hu ki lalu, mulayam, mayawati, or salman khursid jaise netao ko ap jaldi apne pass bulao..

Sanjeev Verma : thakrey k koi teen kam batayiye jinke karan unko yad kiya jaye. mera ph. no. 9213121860 hai. bharat aik sanghatmak or akatmat dono ka mishrit desh hain .yahan thakrey soch ka koi kam nahi.aap jahan chahe aapse charcha kar sakta hun.

Surender Dharnia : Rawan ek yodha ta jo apne desh ke liy lada jab ki esne to insaniyat ko ladya kya visvas ji sacha bhartiy ko aaj koch bolne ka hak bhi nahi h

Mohit Kothiyal : dr kumaar vishwas ..u are appreciating that india dividing politician., he had almost divided maharashtra from india….., now i can see ur more shades of charachter…

Shubham Embraces Singh : vishwas i m a big fan of u nd specially frm when u joined IAC,but i was depressed by ur this post… yeah its true that may god bless his soul but i dnt like ki ap unhe pranam kr rhe hai, agr aesa hai tab to kal jb digvijay singh mar jayege tb ap unhe v pranam krege…

… डा. कुमार विश्वास की इस हरकत को लेकर अगर आप कुछ अलग से लिखना चाहते हैं तो आपका स्वागत है.. आप bhadas4media@gmail.com पर मेल कर सकते हैं….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *