तरुण तेजपाल उन बेहया नेताओं से बेहतर हैं जो….

Qamar Waheed Naqvi : तरुण तेजपाल पर लगे यौन शोषण के आरोपों पर क़ानूनी प्रक्रिया को दरकिनार कैसे किया जा सकता है? क़ानूनी प्रक्रिया से मामले का निपटारा हो, यही सही रास्ता है. सुहासिनी हैदर के इन दो ट्वीट से मेरी पूरी सहमति है. @suhasinih: Tehelka case is eg of how not to deal w/ sexual assault.Hope those in charge will give the young girl the courage to file a police complaint. @suhasinih: Anyone who advises a sexual assault victim not to file a police case is guilty. It is our silence that enables,emboldens offenders the most.

Meenu Jain : तरुण तेजपाल ने ज़ुर्म किया, क़बूल किया और फिर प्रायश्चित भी किया. कम से कम उन बेहया नेताओं से बेहतर हैं जो 'चोरी' करके सीनाजोरी भी करते हैं. कानून अपना काम करेगा.

Dilnawaz Pasha : सुधीर चौधरी को रिश्वत माँगता देखकर मैंने जी न्यूज़ न देखने का फ़ैसला लिया था. मैं कभी भी अपनी मर्जी से जी न्यूज़ नहीं देखता. कभी भी नहीं. अब इस कड़ी में तहलका का नाम भी जुड़ गया!

Anil Singh : तरुण तेजपाल के मामले से मुझे अजब ज्ञान प्राप्‍त हुआ है… आप लूट करो और अपनी नौकरी छह महीने के लिए छोड़ दो… आप हत्‍या करो और पांच महीने तक फलहारी रहो… भाई अब मैं भी सोच रहा हूं कि किसी की ऐसी तैसी करने के बाद तीन सप्‍ताह तक हर शनिवार को व्रत रखूं…

कमर वहीद नकवी, मीनू जैन, दिलनवाज पाशा और अनिल सिंह के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *